ताज़ा खबर
 

मुगलसराय जंक्शन का नाम दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर रखवाने के लिए सुरेश प्रभु को प्रस्ताव भेजेगी यूपी की योगी आदित्य नाथ सरकार

यह दीनदयाल उपाध्याय की 100वीं जन्म शताब्दी के चलते किया जा रहा है। राज्य इस संबंध में रेल मंत्रालय को प्रस्ताव भेजेगा।

मुगलसराय देश के सबसे व्यस्ततम स्टेशनों में से एक है, जो ग्रांड ट्रंक रोड से पास स्थित है।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्य नाथ सरकार ने फैसला लिया है कि मुगलसराय स्टेशन का नाम जन संघ नेता दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने के लिए रेलवे को प्रस्ताव भेजा जाएगा। द टेलिग्राफ के मुताबिक, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कैबिनेट मीटिंग के बाद कहा, “उत्तर प्रदेश कैबिनेट ने फैसले को मंजूरी दे दी है। राज्य इस संबंध में रेल मंत्रालय को प्रस्ताव भेजेगा। यह दीनदयाल उपाध्याय की 100वीं जन्म शताब्दी है।”

25 सितंबर 1916 को जन्मे उपाध्याय 11 फरवरी 1968 को मुगलसराय स्टेशन के पास रहस्यमयी परिस्थितियों ने मृत पाए गए थे। मुगलसराय देश के सबसे व्यस्ततम स्टेशनों में से एक है, जो ग्रांड ट्रंक रोड से पास स्थित है। इसका नाम मुगलसराय इसलिए रखा गया था क्योंकि पूर्वी भारत से पेशावर जाने वाला मुगल कारवां और व्यापारी यहां रात में रुकते थे और अगली सुबह आगे का सफर तय किया करते थे। मुगलसराय वाराणसी से 16 किमी. दूर स्थित है।

इससे पहले अप्रैल माह में योगी आदित्य नाथ सरकार ने आगरा एयरपोर्ट का नाम उपाध्याय के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा था। राज्य की सभी लाइब्रेरी का नाम भी बदलकर उनके नाम पर रखा जाएगा। परिवहन विभाग उपाध्याय के नाम पर एक पेंटिंग प्रतियोगिता रखेगा, जिसमें जीतने वाले को 1 लाख रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा। इसके आलावा, केंद्र सरकार भी उपाध्याय की जन्म शताब्दी पर देश भर में कार्यक्रम का आयोजन करेगी।

पिछले महीने ही मध्यप्रदेश सरकार ने फैसला लिया था कि सरकार द्वारा प्रकाशित किए जाने वाले विज्ञापनों में अब दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर भी अनिवार्य रूप से लगाई जाएगी। मुख्यमंत्री चौहान ने उच्चस्तरीय अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिए कि पंडित दीनदयाल जन्म-शताब्दी वर्ष में सभी मंत्रियों के शासकीय लेटरहेड, विज्ञापनों और पत्राचार में पंडित दीनदयाल उपाध्याय का फोटो अनिवार्य रूप से प्रकाशित होगा। इससे पहले,  राज्य शासन ने आदेश दिए थे कि प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री की तस्वीर सभी शासकीय कार्यालय व भवन में अनिवार्य रूप से लगाई जाए।

चलते ऑटो में महिला से किया गैंगरेप, दरिंदों ने 9 महीने की बच्ची को ऑटो से फेंका

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App