ताज़ा खबर
 

बसपा नेता नसीमुद्दीन ने कहा- बसपा को वोट नहीं दिया तो यूपी में नहीं होगा कोई मुस्लिम विधायक

बहन मायावती ने आप से लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी को वोट देकर अपना वोट बर्बाद न करने की अपील की थी, लेकिन आपने नहीं सुनी।

Author लख | Updated: November 17, 2016 8:50 AM
नसीमुद्दीन सिद्दीकी। (Express photo by Vishal Srivastav)

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के बीच बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दकी ने बुधवार को मस्लिम समुदाय को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अगर अल्पसंख्यक समुदाय ने बीएसपी को वोट नहीं दिया तो विधानसभा में एक भी मुस्लिम विधायक नहीं होगा। साथ ही उन्होंने लोगों ने बीएसपी उम्मीदवार को समर्थन करने की अपील की है। सिद्दीकी ने कहा कि बहन मायावती ने आप से लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी को वोट देकर अपना वोट बर्बाद न करने की अपील की थी, लेकिन आपने नहीं सुनी। जिस कारण से एक भी मुस्लिम सदस्य नहीं चुना गया। अगर आप को वोट इस बार भी विभाजित होता है तो राज्य विधानसभा में भी एक भी मुस्लिम विधायक निर्वाचित नहीं होगा। नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने यह बात रायबरेली के बहाई में बीएसपी उम्मीदवार ठाकुर प्रसाद यादव द्वारा आयोजित सामाजिक भाई चारा सम्मेलन में कही।

विधानसभा चुनाव से पहले बीएसपी मुस्लिम और दलित वोटों को एक साल लाकर दूसरी पार्टियों पर बढ़त बनाना चाहती है। सिद्दीकी ने कहा कि बीजेपी सरकार में दलितों और मुस्लिमों को घर वापसी, लव जेहाद, बीफ और गौरक्षा के नाम पर अत्याचार सहना पड़ रहा है। उना में दलितों की पिटाई का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि दलितों के कपड़े उतारकर गौरक्षा के नाम पर उनकी पिटाई की जा रही है। मुसलमानों की रोज ठुकाई हो रही है, ये गौरक्षा हो रही है।

बीएसपी नेता ने दावा किया कि सपा सरकार में राज्य में 400 से ज्यादा सांप्रदायिक दंगे हुए हैं और ज्यादातर मं बीजेपी और सपा के हाथ होने का आरोप लगाया। मुसलमान पहले कांग्रेस और जनता पार्टी का समर्थन करता था और अब 20 साल से ज्यादा समय से सपा को सपोर्ट कर रहा है लेकिन उनकी आज तक शिकायत बरकरार है कि सरकार उनकी बातों को नहीं सुनती है। मुसलमानों को राजनीतिक सूझबूझ उत्पन्न करने की जरूरत है। उन्हें बीएसपी को वोट करना चाहिए लेकिन कितना, ये हम सबको पता है।

सिद्दीकी ने कहा कि अनुसूचित जाति की जनसंख्या 24 पर्सेंट है और मुसलमानों की जनसंख्या 20 प्रतिशत है, हालांकि सरकार बनाने के लिए 30 पर्सेंट वोट चाहिए होते हैं। इस दौरान उन्होंने नोटबंदी को लेकर बीजेपी और पीएम मोदी पर भी निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि किसान और मजदूरों के पास काला धन नहीं है, वो तो अंबानी और अडानी के पास है जो कि आपकी तरह हैं। उन्होंने 2जी स्पैक्ट्रम और बोफोर्स घोटाले की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों भ्राष्टाचार में लिप्त हैं।

यूपी चुनाव सर्वे: BJP सबसे आगे, मायावती मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 नौ महीने बाद मिली खोई पत्नी, साइकिल पर पोस्टर लगाकर ढूंढता था सड़कों पर
2 यूपी चुनाव: उम्‍मीदवार चुनने के लिए बीजेपी करा रही है सर्वे, तीन स्‍तर पर फिल्‍टर होकर बनेगी रिपोर्ट
3 अखिलेश यादव की फिसली ज़ुबान, कहा- मंदी के दौर में काले धन ने भारतीय अर्थव्ययस्था को दिया था सहारा