बुलेट पर रावण लिखवाकर टहल रहे हैं दारोगा जी! तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल - up police officers daroga riding on a bullet written on it daaraoga violating traffic rules Lucknow news - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बुलेट पर रावण लिखवाकर टहल रहे हैं दारोगा जी! तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल

यूपी में फैंसी नंबर लिखवाने की ये परंपरा कोई नई नहीं है। इससे पहले अखिलेश यादव की सरकार में लोग गाड़ी नंबर 2129 को इस तरह लिखवाते थे कि वो हिन्दी में पढ़ने यादव नजर आए।

लखनऊ पुलिस के सब इंस्पेक्टर की ‘रावण’ बुलेट लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। (फोटो-Facebook/Ashutosh Tripathi)

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक सब इंस्पेक्टर महोदय अपने बुलेट और इसके नंबर प्लेट की वजह से चर्चा में है। ये मामला लखनऊ के हजरतगंज थाने का है। यहां पर एक सब इंस्पेक्टर ने अपने बुलेट में नंबर इस तरह लिख रहा है कि ये देखने में रावण लगता है। सब इंस्पेक्टर महोदय के बुलेट का नंबर 2199 है। इस नंबर को अपने बुलेट पर लिखने में दारोगा साहब ने ऐसी कलाकारी दिखाई है कि आप हैरान हो सकते हैं। उन्होंने 21 को ‘रा’ और 99 ‘वण’ जैसा लिखा है। ट्रैफिक नियमों के मुताबिक यह सरासर गैर कानूनी है। यहीं नहीं सब इंस्पेक्टर महोदय एक वीडियो में बिना हेलमेट के इस बुलेट को चलाते दिख रहे हैं। हजरतगंज में लोग दबी जुबान से पुलिस सब इंस्पेक्टर को ‘रावण दारोगा’ जी कहने लगे हैं। रावण लिखे बुलेट पर सवार सब इंस्पेक्टर महोदय की तस्वीर वायरल हो गई है और लोग कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। स्थानीय अखबार और सोशल मीडिया पर तस्वीरें छाने के बाद लोग कह रहे हैं कि आखिर सीएम योगी आदित्यनाथ की पुलिस जनता को क्या संदेश देना चाहती है।

इस तस्वीर के बारे में फेसबुक पर आशुतोष त्रिपाठी ने लिखा, “रावण का नाम सुनते ही आपको कैसा लगता है, यकीनन अच्छा तो नहीं लगता होगा, लेकिन तब क्या जब कोई बोर्ड लगाकर खुद के रावण होने का प्रचार करे, ये प्रचार कोई और नहीं उत्तर प्रदेश के एक दारोगा महाशय कर रहे हैं।” एक यूजर ने लिखा है, “ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ाता लखनऊ का ‘रावण’ दारोगा।” बता दें कि यूपी में फैंसी नंबर लिखवाने की ये परंपरा कोई नई नहीं है। इससे पहले अखिलेश यादव की सरकार में लोग गाड़ी नंबर 2129 को इस तरह लिखवाते थे कि वो हिन्दी में पढ़ने यादव नजर आए। यहां यह बताना जरूरी है कि 7 फरवरी को ही सूबे के डीजीपी ने पुलिस लाइन में सारे पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर कानून और ट्रैफिक व्यवस्था पर मीटिंग की थी, और इसे दुरुस्त करने का आदेश दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App