ताज़ा खबर
 

यूपी: संत कबीर नगर में रेलवे स्टेशन के पास बम धमाका, एक शख्स घायल, रेलवे ट्रैक उड़ाने की थी साजिश

यूपी की फोरेंसिक और बम स्कवॉड टीम मौके पर पहुंच गई है और इलाके में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है

भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में 7 मार्च को हुए विस्फोट को बाद की तस्वीर। (Source: ANI)

यूपी संत कबीर नगर में एक बम घमाका हुआ, जिसमें एक स्क्रैप डीलर घायल हो गया। हालांकि यह कम तीव्रता वाला घमाका था। पुलिस ने इस धमाके के बाद कम तीव्रता वाले 3 और बम बरामद किए हैं, जो रेलवे ट्रैक पर लगाए गए थे। माना जा रहा है कि रेलवे ट्रैक को उड़ाकर बड़ा ट्रेन हादसा करने की योजना थी, जिसे नाकाम कर दिया गया। यूपी की फोरेंसिक और बम स्कवॉड टीम मौके पर पहुंच गई है और इलाके में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

बता दें कि इसी महीने की शुरुआत में 7 मार्च को भोपाल-उज्जैन ट्रेन में ब्लास्ट की घटना हुई थी। यह ट्रेन भोपाल से उज्जैन जा रही थी. धमाका सुबह 9:30 बजे के करीब जनरल बोगी में हुआ था। इससे पहले पिछले साल कानपुर में ट्रेन हादसा हुआ था। कानपुर हादसे में इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 कोचों के संदिग्ध तौर पर पटरी से उतर गए थे। हादसे में 120 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई जबकि 200 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। लगातार हो रही रेलवे दुर्घटनाओं को देखते हुए गृह मंत्रालय ने एक विशेषज्ञ समीति का गठन किया था, ताकि रेलवे ट्रैक की सुरक्षा को और पुख्ता किया जा सके। यह फैसला गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में लिया गया था। बैठक में रेल मंत्री सुरेश प्रभु भी शामिल रहे थे।

उत्तर प्रदेश में संत कबीरनगर जिले के खलीलाबाद कस्बे में आज रेल पटरी के पास हुए विस्फोट में एक व्यक्ति घायल हो गया। पुलिस अधीक्षक हीरालाल ने यहां बताया कि नेपाल का निवासी राजू थापा रेल पटरी के पास पड़ा कूड़ा बीन रहा था, तभी उसमें एक कम शक्ति वाला बम फट गया, जिससे उसका एक हाथ जख्मी हो गया। उन्होंने बताया कि सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उस थैले से तीन और सुतली बम बरामद किये जिसमें थापा कूड़ा बीनकर रख रहा था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हादसे में घायल हुए नेपाली नागरिक को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

लालबत्‍ती: सुविधा या वीआईपी कल्‍चर? जानिए विभिन्न राज्यों में क्या हैं नियम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App