ताज़ा खबर
 

यूपी कैबिनेट मीटिंग: योगी सरकार का बड़ा फैसला- पुराने बिजली बिल पर सरचार्ज माफ, गांवों में 18 घंटे तो शहरों में 24 घंटे रहेगी बिजली

Yogi Adityanath Cabinet Meeting: उन्होंने कहा कि किसानों तक विकास पहुंचाना हमारा कर्तव्य है। बिजली सप्लाई में किसी तरह की लापरवाही हुई तो कार्रवाई होगी। सरकार का उद्देश्य अक्टूबर 2018 तक हर जगह 24 घंटे बिजली पहुंचाने का है।

यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने मंगलवार को कैबिनेट की दूसरी मीटिंग खत्म हो गई है। मीटिंग में कई अहम फैसले लिए गए हैं। मीटिंग में हुई चर्चा के बारे में बताते हुए कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि मुख्यमंत्री का आदेश है कि गर्मी में गांवों में 18 घंटे बिजली मिलेगी और बुंदेलखंड को 20 घंटे बिजली मिलेगी। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने मंत्रिमण्डल की बैठक में लिये गये निर्णयों की जानकारी देते हुए बताया ‘‘यह पहली गर्मी होगी जब गांवों में 18 घंटे, तहसील मुख्यालयों में 20 और जिला मुख्यालयों पर 24 घंटे बिजली आएगी।’’ पूर्ववर्ती सरकार ने भी ऐसे रोस्टर जारी किये थे। मगर यह रोस्टर मात्र किताबों तक या शक्ति भवन (विद्युत विभाग मुख्यालय) तक ही सीमित रहता था।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बिजली आपूर्ति को लेकर हाल में किये गये ट्वीट का जिक्र करते हुए शर्मा ने कहा ‘‘हमारा कहना है कि आपके (अखिलेश) आदेश मुख्यमंत्री आवास और वीआईपी इलाकों तक ही सीमित थे। जनता तक इनका क्रियान्वयन नहीं होता था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुनिश्चित किया है कि इस सरकार की नजर में गांव में रहने वाले गरीब लोग वीआईपी हैं।’’ उन्होंने कहा ‘‘हमने सुनिश्चित किया कि रोस्टर का क्रियान्वयन हो। अगर कोताही हुई तो अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। बिजली आपूर्ति के मामले में हमेशा से ग्रामीण अंचल की उपेक्षा होती थी। प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने के लिये प्रदेश सरकार पूरी तरह संकल्पबद्ध हैं। हम अक्तूबर 2018 तक पूरे प्रदेश को 24 घंटे बिजली देने के लिये युद्धस्तर पर काम कर रहे हैं।’’शर्मा ने बताया कि अब किसानों के नलकूपों से सम्बन्धित बिजली ट्रांसफार्मर खराब होने पर 72 घंटे के बजाय 48 घंटे में बदले जाएंगे। शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे में ट्रांसफार्मर बदला जाएगा। उन्होंने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि उर्च्च्जा विभाग के लोग अब गांवों में दिखने चाहिये। खेतों पर घूमते हुए दिखने चाहिये।

श्रीकांत शर्मा ने बताया कि 4 एजेंसियां मिलकर 1 टन आलू खरीदेंगी। प्रदेश में सभी लोगों के बिजली बिल बकाए पर सरचार्ज माफ होगा। गन्ना किसानों को योगी सरकार ने बड़ी राहत दी है। गन्ना किसानों को 14 दिन में पैसा देने का आदेश दिया गया है। गन्ना किसानों का पुराना भुगतान 4 माह में देने का आदेश दिया गया है। 10 हजार रुपए बकाया वाले किसान 4 किस्तों में भुगतान करें। सबकों बिजली मिले इसके लिए बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती (14 अप्रैल) को केंद्र सरकार के साथ करार किया जाएगा। इसके साथ ही योगी सरकार ने राज्य विकास प्राधिकरणों का कैग से ऑडिट कराने का रास्ता भी साफ कर दिया है। इससे विकास प्राधिकरणों में पारदर्शिता आएगी।

योगी ने पहली कैबिनेट मीटिंग के बैठक में किसानों को बड़ी राहत देते हुए कर्ज माफी का ऐलान किया था।  4 अप्रैल को कैबिनेट की पहली मीटिंग के बाद योगी सरकार ने राज्य के छोटे और मझोले किसानों के लिए 36,359 करोड़ रूपये की कर्ज माफी की घोषणा की थी। भाजपा के चुनावी वादे को पूरा करते हुए सरकार ने किसानों के लिए एक लाख रूपये तक के कृषि कर्ज माफ करने का फैसला लिया था। इस कदम से लगभग 2.15 करोड़ किसानों को फायदा होगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा- "सूर्य नमस्कार और नमाज एक समान"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App