ताज़ा खबर
 

यूपी: 10 लाख बच्‍चों को पढ़वाएगी BJP- विवेकानंद हिंदुत्‍व के प्रतिनिधि, पहले प्रधानमंत्री का नाम नदारद

किताब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की नीतियों के बारे में भी बताया गया है।

बीजेपी शासित राजस्थान में विश्वविद्याल की इतिहास की किताब में हल्दीघाटी युद्ध के विजेता महाराणा प्रताप को बताया गया था। (एजेंसी फोटो)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता दीनदयाल उपाध्याय के जन्मशताब्दी वर्ष से जुड़े कार्यक्रमों के सिलसिले में बीजेपी की उत्तर प्रदेश इकाई 26 अगस्त को राज्य के स्कूली छात्रों के लिए एक प्रतियोगिता आयोजित करवा रही है। बीजेपी को उम्मीद है कि परीक्षा में करीब नौ लाख से ज्यादा बच्चे भाग लेंगे। इस “सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2017” की तैयारी के लिए बीजेपी ने 70 पन्नों की एक किताब तैयार की है। ये किताब राज्य के स्कूलों में बांटी जाएगी। इस किताब में प्रतियोगिता की तैयारी के लिए सामग्री और मॉडल सवाल-जवाब हैं। इन मॉडल-सवाल पर विवाद होना तय माना जा रहा है। “सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2017” की तैयारी के लिए इस किताब का लोकार्पण बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार (31 जुलाई) को लखनऊ में किया था। इस किताब में बताया गया है कि स्वामी विवेकानंद ने 1893 में शिकागो विश्व धर्म सम्मेलन में “हिंदुत्व” का प्रतिनिधित्व किया था। रिपोर्ट के अनुसार इस किताब में पूछे गए कुछ सवाल निम्न हैं-

सवाल- किसने कहा था कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है? जवाब- डॉक्टर केशव बलिराम हेडगेवार

सवाल- स्वामी विवेकानंद ने शिकागो धर्मसम्मेलन में किसी धर्म का प्रतिनिधित्व किया था? जवाब– हिंदुत्व

सवाल– महाराजा सुहेलदेव ने किस मुस्लिम आक्रांता को गाजर-मूली की तरह काट दिया था? जवाब- सैय्यद सालार मसूद गाजी

सवाल- डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने किस दल की स्थापना की थी? जवाब- जनसंघ की

सवाल- दीन दयाल उपाध्याय की मृत्यु के समय कौन प्रधानमंत्री था? जवाब- इंदिरा गांधी

इस किताब में “भारत में प्रथम” शीर्षक के तहत देश के पहले गवर्नर जनरल, पहले राष्ट्रपति, पहले उप-राष्ट्रपति, पहले लोक सभा अध्यक्ष, पहले डिप्टी पीएम, पहले कानून मंत्री, पहली महिला मुख्यमंत्री, पहली महिला राज्यपाल इत्यादि की जानकारी दी है लेकिन देश के पहले प्रधानमंत्री (जवाहरलाल नेहरू) का जिक्र नहीं है। “सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2017” की किताब में दीनदयाल उपाध्याय, केबी हेडगेवार, श्यामा प्रसाद मुखर्जी, वीर सावरकर और नानाजी देशमुख जैसे नेताओं के अलावा राष्ट्रवाद पर सामग्री दी गई है।

BJP, up bjp, deen dayal upadhyay बीजेपी द्वारा आयोजित प्रतियोगिता की तैयारी के लिए बांटी जाने वाली किताब का कवर। (तस्वीर- द वायर से साभार।

किताब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लागू की गई नोटबंदी समेत केंद्रीय योजनाओं और उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ सरकार की नीतियों के बारे में भी बताया गया है। इस प्रतियोगिता के लिए छात्र 16 अगस्त तक नामांकन करा सकते हैं। प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए पांच रुपये शुल्क देना होगा। यूपी बीजेपी के प्रवक्ता चंद्रमोहन ने मीडिया को बताया है कि प्रतियोगिता में राज्य के सभी जिलों से 10 छात्रों को चुना जाएगा जिन्हें 25 सितंबर को सम्मानित किया जाएगा।

अभी हाल ही में बीजेपी शासित राज्य राजस्थान में विश्वविद्यालय की इतिहास की किताबों में हल्दीघाटी (1576) के युद्ध में महाराणा प्रताप को विजेता और मुगल शासक अकबर को पराजित बताने पर विवाद हुआ था। वहीं दिल्ली में आरएसएस से जुड़े संगठन द्वारा एनसीईआरटी की किताबों से अंग्रेजी, उर्दू, फारसी और अरबी के शब्दों और गालिब और रविंद्रनाथ टैगोर के गजल और लेख हटाने के सुझाव पर भी विवाद हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App