ताज़ा खबर
 

यूपी: महीनों से कर रहे थे लड़की का पीछा, स्कूल जाते वक्त रेत दिया गला

ड़की मंगलवार सुबह साइकिल से स्कूल जा रही थी। तभी दो मोटरसाइकिल पर सवार चारों लड़के पीछा करने लगे।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर। (Source: Agency)

पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के गांव में एक 17 साल की लड़की की गांव के ही चार लड़कों ने कथित तौर पर हत्या कर दी। परिवार का दावा है कि पिछले छह महीने से भी ज्यादा समय से आरोपी लड़की का पीछा और छेड़छाड़ कर रहे थे। परिवार ने सख्त कार्रवाई किए जाने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, लड़की मंगलवार सुबह साइकिल से स्कूल जा रही थी। तभी दो मोटरसाइकिल पर सवार चारों लड़के पीछा करने लगे। उन चारों ने लड़की को पकड़कर पहले नीचे गिराया, फिर चाकू से गला काटकर भाग गए। आरोपियों में गांव के मुखिया का 22 साल के बेटा भी शामिल है।

पुलिस का कहना है कि मुखिया के बेटे प्रिंस तिवारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य तीन आरोपी फिलहाल फरार हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी विजय पाल सिंह ने कहा, “लड़की का गला किसी धारदार हथियार से काटा गया है। मामले में जल्द ही सभी गिरफ्तारी की जाएगी।” लड़की की मां ने बताया, “हमारे घर के बाहर एक हैंडपंप लगा है। वो चारों अक्सर वहां बैठे रहते थे और मेरी बेटी पर भद्दी टिप्पणियां करते थे। हमें पुलिस के पास जाना चाहिए था।” कुछ दिन पहले ही उन्होंने गांव के मुखिया को इस बारे में शिकायत की थी। शुरुआत में लड़की ने स्कूल जाना ही छोड़ दिया था, लेकिन अब वह क्लास जाने लगी थी। 14 साल की छोटी बहन ने कहा, “पापा ने उससे कहा था कि स्कूल मत जाना। लेकिन उसका कहना था कि वह कब तक ऐसे घर में बैठी रहेगी।”

हाल ही में लड़की का पीछा करने के कई मामले सामने आ चुके हैं। बता दें कि बीते सप्ताह की शुक्रवार रात एक आईएएस अधिकारी की 29 वर्षीय बेटी का दो लड़कों ने कथित तौर पर पीछा किया। आरोपियों में हरियाणा भाजपा नेता का बेटा भी शामिल हैं। हरियाणा भाजपा प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास (23) और आशीष कुमार (27) को कथित तौर पर महिला का पीछा करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.