ताज़ा खबर
 

कुछ नहीं कर सके CM, अब ‘इज्जत घर’ रंगवा रहे हैं- गोरखपुर महोत्सव से पहले योगी पर अखिलेश का तंज

अखिलेश बोले-'अब तो बराबरी हो गई है। हम लोग कला को पसंद करने वाले हैं, हमें आपत्ति क्यों होगी। लेकिन जब महोत्सव हो रहा है तो सैफई से अच्छा हो।'
अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर अस्पताल में बच्चों की मौत के बाद सरकार ने क्या किया है समाजवादी पार्टी यह जानना चाहती है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुरुवार (11 जनवरी) को राज्य सरकार पर जमकर बरसे। अखिलेश यादव ने कहा कि बाराबंकी में जहरीली शराब पीकर कई लोग मर गये हैं, राज्य सरकार को जवाब देना पड़ेगा कि ऐसा क्यों हुआ? अखिलेश ने कहा कि सरकार को कारण पता लगाना चाहिए और अपना चेहरा शीशे में देखना चाहिए। अखिलेश ने कहा, ‘हमारी सरकार में जब ऐसी घटना होती थी तो भाजपा वाले सवाल उठाते थे। यह घटना बड़ी है, सरकार को जांच करानी चाहिए। मृतकों को मुआवजा मिलना चाहिए। सरकार मृतकों के परिवार को 10 लाख मुआवजा दे।’ बाराबंकी जिले में पिछले 24 घंटे में अलग-अलग कारणों से 11 लोगों की मौत हो गयी। इनमें से तीन लोगों की मौत स्प्रिट पीने के कारण हुई। अखिलेश यादव ने गोरखपुर महोत्सव को लेकर सरकार पर ताना मारा। उन्होने कहा कि, ‘अब तो बराबरी हो गई है। हम लोग कला को पसंद करने वाले हैं, हमें आपत्ति क्यों होगी। लेकिन जब महोत्सव हो रहा है तो सैफई से अच्छा हो।’ इसी बहाने अखिलेश यादव ने गोरखपुर में बच्चों की मौत का मामला भी उठाया। बता दें कि गोरखपुर में आज से राज्य सरकार तीन दिनों का सांस्कृतिक कार्यक्रम करवा रही है। इस कार्यक्रम में बॉलीवुड के कलाकारों के साथ साथ भोजपुरी भाषा से जुड़े स्टार भी परफॉर्मेंस देंगे। राज्य सरकार इस मेगा शो को सफल बनाने में जुटी है।

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष ने कहा कि गोरखपुर अस्पताल में बच्चों की मौत के बाद सरकार ने क्या किया है यह समाजवादी पार्टी जानना चाहती है। अखिलेश ने पूछा, ‘क्या सरकार ने सुविधाएं मुहैया कराई, सीएम अपने इलाके में भी कुछ नहीं कर सके और अब ‘इज्जत घर’ रंगवाने में व्यस्त हैं ताकि मुद्दों से लोगों का ध्यान हट सके।’ दरअसल अखिलेश यादव अपने बयान में उन रिपोर्ट्स का जिक्र कर रहे थे, जिनमें कहा गया है कि अब उत्तर प्रदेश में शौचालयों को भी भगवा रंग में रंगा जा रहा है। अखिलेश यादव ने सूबे में कानून-व्यवस्था पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए आरोप लगाया कि ‘पुलिस लोगों पर अत्याचार कर रही है। किसी भी मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हो रही है। राजनीति से जुड़े लोग पुलिस पर दबाव बना रहे हैं।’

बता दें कि लखनऊ में आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो पूर्व विधायकों सहित कई लोगों ने सपा का दामन थाम लिया। सपा में शामिल होने वालों में पूर्व विधायक श्याम लाल रावत और महेश वाल्मीकि शामिल हैं। इस मौके पर अखिलेश ने कहा, “इन नेताओं के अलावा डॉक्टर आशुतोष, डॉ. नवल किशोर चौधरी, डॉ. सीमा सिंह और अन्य प्रोफेसर भी समाजवादी पार्टी से जुड़े हैं। हम चाहते हैं कि जो भी प्रबुद्घ लोग सपा में शामिल होना चाहते हैं, उनके लिए दरवाजा खुला है। ऐसे लोगों से पार्टी मजबूत होगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.