ताज़ा खबर
 

नौ लाख की कलम और 36.31 करोड़ के जेवर रखते हैं अमिताभ बच्चन, जया के पास पति से कम गहने

जया और अमिताभ दोनों के ऊपर कर्ज भी हैं। जया बच्चन के संपत्ति से जुड़े दस्तावेज में अमिताभ पर 18 करोड़ 28 लाख 20 हजार 951 रुपये की देनदारी दिखाई गई है, जबकि जया बच्चन पर अमिताभ से कई गुणा ज्यादा कर्ज है। जया बच्चन 87 करोड़ 34 लाख 62 हजार 85 रुपये की देनदारी है।

साल 2017 में दिवाली के मौके पर देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करते बिग बी अपने परिवार के साथ (फोटो-twitter/@SrBachchan)

बॉलीवुड अदाकारा और हिन्दी फिल्मों के महानायक अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन ने आगामी राज्यसभा चुनाव के लिये समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया। संवैधानिक प्रावधानों के मुताबिक उन्होंने चुनाव आयोग को अपनी संपत्ति का ब्यौरा भी दिया है। जया बच्चन द्वारा दिये गये दस्तावेजों के मुताबिक उनके और अमिताभ बच्चन के पास कुल 10.01 अरब रुपये की चल-अचल संपति है। बच्चन दंपत्ति के संपत्ति से जुड़े दस्तावेजों से कई दिलचस्प आंकड़े सामने आए हैं। इसके मुताबिक नामांकन के वक्त बिग बी के पास 1 लाख 32 हजार 257 रुपये की नकदी थी, जबकि जया बच्चन के पास उस वक्त 2 लाख 33 हजार 973 रुपये नकद थे। दस्तावेजों से पता चलता है कि अमिताभ के पास जया बच्चन से ज्यादा जेवरात है। अमिताभ बच्चन नौ लाख रुपये की कलम रखते हैं। जया बच्चन 1.49 लाख रुपये के मोबाइल से बात करती हैं। आंकड़ों के मुताबिक अमिताभ के पास 36.31 करोड़ रुपये के जेवरात हैं। जबकि जया बच्चन 26.10 करोड़ रुपये के जेवर की मालकिन हैं। जया और अमिताभ दोनों के ऊपर कर्ज भी हैं।

जया बच्चन के संपत्ति से जुड़े दस्तावेज में अमिताभ पर 18 करोड़ 28 लाख 20 हजार 951 रुपये की देनदारी दिखाई गई है, जबकि जया बच्चन पर अमिताभ से कई गुणा ज्यादा कर्ज है। जया बच्चन पर 87 करोड़ 34 लाख 62 हजार 85 रुपये की देनदारी है। जया बच्चन द्वारा दिये गये शपथ पत्र में उनके पास 1.30 अरब रुपये की अचल संपत्ति है, जबकि बिग बी के पास 3.32 रुपये की अचल संपत्ति का जिक्र है। बच्चन दंपत्ति के पास देश के कई शहरों में जमीनें हैं। अचल संपत्ति में लखनऊ, नोएडा, बाराबंकी, भोपाल, अहमदाबाद, गांधीनगर, पुणे और मुंबई में जमीनों का जिक्र है।

बता दें कि जया बच्चन का कार्यकाल दो अप्रैल को समाप्त हो रहा है। सपा की राज्यसभा सदस्य जया बच्चन ने राज्यसभा का पर्चा दाखिल करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि वह अपनी उम्मीदवारी के लिये मुलायम सिंह यादव, पार्टी के सभी विधायकों और विधान परिषद सदस्यों को धन्यवाद देती हैं। इस सवाल पर कि सपा ने किरण मय नंदा और नरेश अग्रवाल जैसे वरिष्ठ नेताओं की जगह उन्हें राज्यसभा का टिकट दिया, जया ने कहा ‘‘मैं भी सीनियर हूं।’’ उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिये आगामी 23 मार्च को मतदान होगा। प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा और उसके सहयोगी दलों के वर्तमान सदस्यों की संख्या 324 है। सपा के पास 47, बसपा के पास 19, कांग्रेस के पास सात और राष्ट्रीय लोकदल के पास एक विधायक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App