ताज़ा खबर
 

अमर सिंह का अखिलेश यादव पर तंत्र-मंत्र का आरोप, कहा- किस बात की अकड़ है, चिराग ने घर जलाया

समाजवादी पार्टी में चल रही कलह पर अमर सिंह का कहना है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार को टूटने से बचाने के लिए वे हर तरह के बलिदान के लिए तैयार हैं।

समाजवादी पार्टी में चल रही कलह पर अमर सिंह का कहना है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार को टूटने से बचाने के लिए वे हर तरह के बलिदान के लिए तैयार हैं।

समाजवादी पार्टी में चल रही कलह पर अमर सिंह का कहना है कि मुलायम सिंह यादव के परिवार को टूटने से बचाने के लिए वे हर तरह के बलिदान के लिए तैयार हैं। उन्‍होंने कहा, ”मैंने इस्‍तीफा देने की कोशिश की और देने के लिए तैयार बैठा हूं। हर तरह का बलिदान देने को तैयार हूं। सारी विषमता और प्रतिकूलता का ठीकरा मुझ पर और भाई शिवपाल यादव पर फोड़ दिया गया है।” अमर ने कहा कि मुलायम सिंह यादव जो भी कहेंगे वे उसका पालन करेंगे। इतना सब होने के बावजूद जब आरोप लगता है तो दिल दुखता है। उन्‍होंने कहा, ”मैं और शिवपाल मिट्टी थे। जिस कुम्‍हार ने हमारा निर्माण किया, हमारी प्रतिमा बनाई वो मुलायम सिंह हैं। हम उसके दो बाजू हैं। मैं हाथ जोड़कर विनती करना चाहता हूं और क्‍या लोगे? त्‍यागपत्र देने को तैयार हूं। शिवपाल चुनाव लड़ने से हटने को तैयार हैं।”

अमर सिंह ने अखिलेश यादव पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि घर के चिराग से ही आग लग गई। विकास का दावा करने वाले लोग विज्ञान के इस युग में अपने समर्थकों के माध्‍यम से तंत्र और तांत्रिक से बात कर रहे हैं। सपा के राज्‍य सभा सांसद ने कहा, ” क्‍या बात है? किस बात की अकड़ है? इस घर को आग लग गई घर के चिराग से हम मिलकर रहना चाहते हैं।” उन्‍होंने शेर के जरिए इस कलह पर सवाल उठाए और कहा, ”तेरा मेरा शीशे का घर, मैं भी सोचूं तू भी सोच। फिर क्‍यों तेरे हाथ मैं पत्‍थर मैं भी सोचूं तू भी सोच।” शिवपाल यादव ने कहा कि वह जो भी हैं नेताजी की वजह से हैं। हर स्थिति परिस्थिति मैं हम नेताजी के साथ हैं। नेताजी मुलायम सिंह यादव का जो भी आदेश होगा उसे मानेंगे।

इधर, रामगोपाल यादव ने नाम लिए बिना शिवपाल यादव और अमर सिंह पर मुलायम सिंह को भरमाने का आरोप लगाया। उन्‍होंने चुनाव आयोग में जमा कराए गए दस्‍तावेजों को फर्जी बताने के मसले पर कहा कि फर्जी लोग फर्जी ही बातें करते हैं। पिछले एक-दो साल से ये लोग नेताजी को खुले दिमाग से सोचने नहीं दे रहे। उन्‍हें गलत जानकारी दे रहे हैं। रामगोपाल ने कहा कि उनकी ओर से जमा कराए गए दस्‍तावेज असली हैं। उन्‍होंने ये दस्‍तावेज मुलायम सिंह को भी भेजे लेकिन उन्‍होंने लिए नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App