ताज़ा खबर
 

विकास को राजनीति के तराजू में ना तौलें: राजनाथ सिंह

राजनाथ ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के जमाने में जीडीपी 8.4 प्रतिशत पहुंच गई थी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना इसे दो अंकों में पहुंचाने का है।

Author लखनऊ | September 16, 2016 8:15 PM
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह। (पीटीआई फाइल फोटो)

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार (16 सितंबर) को कहा कि विकास को राजनीति के तराजू में नहीं तौलना चाहिए और केन्द्र सरकार जीडीपी दर दो अंकों में पहुंचाने का लक्ष्य लेकर चल रही है। केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ मिलकर 5218 करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाली रिंग रोड का शिलान्यास करते हुए राजनाथ ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के जमाने में जीडीपी 8.4 प्रतिशत पहुंच गई थी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना इसे दो अंकों में पहुंचाने का है। अवस्थापना और सड़क विकास के जरिए ही ये लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राजधानी में प्रस्तावित 94 किलोमीटर लंबे आउटर रिंग रोड के लिए जमीन उपलब्ध कराने में पूरा सहयोग दिया है।

राजनाथ ने कहा कि वाजपेयी सरकार में भूतल परिवहन मंत्री रहते उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्गों को जोड़ने की महात्वाकांक्षी परियोजना शुरू की थी। गडकरी ने लखनऊ के लिए 1000 करोड़ रुपए लागत से सात फ्लाईओवर बनाए जाने का ऐलान किया। किसी भी अर्थव्यवस्था के विकास के लिए अवस्थापना सुविधाएं विकसित करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि पूर्व की संप्रग सरकार ने हर दिन दो किलोमीटर सडक बनायी। आज राजग सरकार के समय हर दिन 22 किलोमीटर सड़क निर्माण किया जा रहा है। इसे बढ़ाकर 42 किलोमीटर प्रतिदिन करने का लक्ष्य है। गडकरी ने बताया कि उत्तर प्रदेश में 60 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाएं चल रही हैं, जिनमें से 20 हजार करोड़ रुपए का काम चल रहा है और 25 हजार करोड़ रुपए जल्द ही स्वीकृत होने वाले हैं।

उन्होंने ये भी कहा कि हमारी सरकार का कार्यकाल पूरा होने से पहले हम प्रदेश में दो लाख करोड़ रुपए की सड़कें बनाकर देंगे। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि विकास के लिए धन और प्रौद्योगिकी की कमी नहीं है। केवल इच्छाशक्ति होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि देश की 111 नदियों को जलमार्ग के रूप में विकसित किया जाएगा, जिसमें गंगा में वाराणसी से हल्दिया तक जलमार्ग का विकास कर इसकी शुरुआत की जा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App