ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी बोले- सक्रिय राजनीति में आएं प्रियंका, मुझे अपनी बहन पर सबसे ज्यादा भरोसा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए राहुल ने उन्‍हें किसानों के प्रति असंवेदनशील बताया। उन्‍होंने कहा कि पीएम को आरएसएस ने झूठ बोलने में माहिर बनाया है।

Author हमीरपुर | September 20, 2016 9:13 AM
कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि वे चाहते हैं कि उनकी बहन प्रियंका गांधी राजनीति में आएं। (Photo:PTI)

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि वे चाहते हैं कि उनकी बहन प्रियंका गांधी राजनीति में आएं। लेकिन राजनीति में शामिल होने का फैसला उनका खुद का होगा। अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बात करते हुए उन्‍होंने कहा, ”मैं सबसे ज्‍यादा अपनी बहन पर भरोसा करता हूं। मैं चाहता हुं कि वह राजनीति में सक्रिय हो। लेकिन यह फैसला उनको करना है कि कब, कैसे और क्‍या वह आना चाहती है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए राहुल ने उन्‍हें किसानों के प्रति असंवेदनशील बताया। उन्‍होंने कहा कि पीएम को आरएसएस ने झूठ बोलने में माहिर बनाया है। साथ ही कहा कि वे ‘सेल्‍फी लेने और झूठे वादे करने की मशीन” हैं। राहुल ने यूपी चुनावों के साम्‍प्रदायिक रंग लेने का अनुमान लगाते हुए कहा कि भाजपा और आरएसएस केवल हिंसा और नफरत फैलाने के ही काबिल हैं।

बसपा के साथ गठबंधन से इनकार करते हुए कांग्रेस उपाध्‍यक्ष ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में कांग्रेस के सरकार बनाती दिख रही है। उन्‍होंने कहा कि मायावती और मुलायम सिंह यादव दोनों को ही जल्‍दी ही कोई भाव नहीं देगा। राहुल बोले, ”बांटने वाली राजनीति के चलते यूपी में काफी समस्‍याएं हैं। सत्‍ता का अत्‍यधिक केंद्रीकरण जहां एक या चार लोग पूरे राज्‍य पर राज करें, यह नहीं चल सकता। मेरा मानना है कि कांग्रेस के पास यूपी को बदलने की ताकत है। यदि हम लोगों को यह भरोसा दिला सकें कि हम यह कर सकते हैं तो यूपी को इस कीचड़ से बाहर निकाला जा सकता है।”

राहुल गांधी की सभा में लुटी खाट का ऐसे हो रहा है इस्‍तेमाल

राहुल गांधी के गार्ड्स ने पायलटों से लाइसेंस दिखाने को कहा, मिला सटीक जवाब

यूपी में कांग्रेस के प्रचार में प्रशांत किशोर की भूमिका पर राहुल ने बताया, ”पार्टी की रणनीति कांग्रेस नेताओं ने तैयार की है। प्रशांत अभियान पर ध्‍यान देते हैं, इनपुट देते हैं। कांग्रेस के पास टिकट बांटने का अच्‍छी तरह से स्‍थापित तंत्र है। इसी सिस्‍टम को काम में लिया जाएगा।” प्रचार के दौरान राहुल खेती की समस्‍याओं और केंद्र सरकार की नाकामियों को उठा रहे हैं। उन्‍होंने कहा, ” यदि भाजपा यह कहती है कि कर्ज माफी का हमारा आइडिया बुरा है तो फिर उद्योगपतियों के 1.10 लाख करोड़ के लोन को माफ कर देना भी गलत है। हमारा लक्ष्‍य है मोदीजी पर यह स्‍वीकार करने का दबाव बनाना कि यदि वह अमीरों की मदद करेंगे तो उन्‍हें गरीबों की मदद भी करनी होगी। उनके साथ भी समान व्‍यवहार होना चाहिए।”

उत्‍तर प्रदेश: दलित परिवार ने उधार लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को खिलाया खाना

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App