ताज़ा खबर
 

केंद्र सरकार किसान बजट बनाए: राहुल

शीराम जी ने जिन आदर्शों के आधार पर अपना खून पसीना लगाकर पार्टी खड़ी की थी वह आदर्श ही खत्म हो गए और उनकी नीतियों को यह हाथी खा गया।

Author घाटमपुर | September 22, 2016 5:48 AM
उत्तर प्रदेश में किसान यात्रा के दौरान आजमगढ़ में जनसभा को संबोधित करते कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (पीटीआई फोटो/10 सितंबर, 2016)

कांग्रेस पार्टी को किसानों की हितैषी बताते हुए पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने बड़े-बड़े उद्योगपतियों के कर्ज तो माफ किए लेकिन किसानों की तरफ ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि उनकी केंद्र सरकार से मांग है कि किसान बजट बनाया जाए ताकि यह तय हो कि किसानों को क्या मिलेगा।  कांग्रेस उपाध्यक्ष देवरिया से दिल्ली की किसान यात्रा के तहत बुधवार को घाटमपुर में किसानों के लिए आयोजित खाट सभा को संबोधित कर रहे थे । उन्होंने कहा कि रेल बजट को आम बजट के साथ मिलाए जाने की खबर है। उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसान बजट बनाएं ताकि यह तय हो कि देश के किसानों को क्या मिलेगा। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि किसानों को उनकी फसल का सही दाम नहीं मिलता। देश में उद्योगपतियों के तो सैकड़ों करोड़ रुपए के कर्ज माफ कर दिए जाते हैं लेकिन किसानों के कर्ज माफ नहीं किए जाते हैं। देश में जब कांग्रेस की सरकार आएगी, तब किसानों का कर्ज माफ करना हमारी प्राथमिकता होगी क्योंकि हमारे लिए देश का किसान और नौजवान ज्यादा महत्त्वपूर्ण है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने चुनाव से पहले जनता से वादा किया था कि वह दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे लेकिन हमें पता चला है कि दो साल में केवल एक लाख युवाओं को ही रोजगार मिला है। इसी तरह और भी वादे देश की जनता के साथ किए गए थे लेकिन वह सब वादे अभी पूरे नहीं हुए हैं। मेरा और मेरी पार्टी का काम विपक्ष का है और हम यह भूमिका बहुत जिम्मेदारी से निभा रहे हैं। उन्होंने अपनी खाट सभा में केंद्र की सरकार के साथ उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को भी आड़े हाथों लिया। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, हम उत्तर प्रदेश सरकार को विभिन्न योजनाओं के लिए पैसा भेजते थे लेकिन एकाध काम होता था, बाकी पैसा पता नहीं, कहां चला जाता था।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने पहले हाथी (बहुुजन समाज पार्टी) को चुना। जहां-जहां हाथी गया, वह सड़कें खा गया। कांशीराम जी ने जिन आदर्शों के आधार पर अपना खून पसीना लगाकर पार्टी खड़ी की थी वह आदर्श ही खत्म हो गए और उनकी नीतियों को यह हाथी खा गया। फिर आपने साइकिल (समाजवादी पार्टी) को चुना, पैडल मारा, किंतु साइकिल वहीं रह गई। मुलायम सिंह ने साइकिल रोक दी। जिन मंत्रियों को भ्रष्टाचार के आरोप में निकाला, उन्हें वापस मंत्री क्यों बनाया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि भ्रष्टाचार के बगैर साइकिल चल ही नहीं सकती है।  अगर इस बार उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनी तो बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी दोनों ही सरकारों के कामकाज की जांच कराई जाएगी। इससे पहले राहुल का काफिला जैसे ही घाटमपुर पहुंचा, किसानों और आम लोगों ने फूल मालाओं से उनका स्वागत किया। उन्होंने कई किसानों के पास जाकर उनसे बात की और हालचाल पूछा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App