ताज़ा खबर
 

VIP कल्चर खत्म करने की ओर योगी सरकार, टोल प्लाजा पर माननियों के लिए नहीं होगी अलग से लेन

सदाकांत ने कहा कि सभी विशिष्ट महानुभावों तथा जन सामान्य के वाहनों के आवागमन हेतु टोल प्लाजा पर सभी सुविधाएं एक समान उपलब्ध रहेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो व्यवस्थाएं वर्तमान में है वही व्यवस्थाएं सभी के लिए एक समान लागू होगी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल)

उत्तरप्रदेश की योगी सरकार भी मोदी सरकार के रास्ते पर चलते हुए वीआईपी कल्चर खत्म करने की तैयारी कर रही है। इसके तहत टोल प्लाजा पर वीआईपी के लिए अलग से कोई लेन नहीं होगी। यूपी में राष्ट्रीय राजमार्ग तथा राज्य की प्रमुख सड़कों पर स्थित टोल प्लाजा, टोल कलेक्शन सेन्टर पर सांसदों, विधायकों तथा विधान परिषद सदस्यों के वाहनों पर टैक्स से छूट देने के सम्बंध में अपर मुख्य सचिव लोक निर्माण विभाग सदाकान्त ने 13 जुलाई को दिए आदेश के सम्बंध में फैले भ्रम को दूर करते हुए कहा कि विशिष्ट महानुभावों के लिए टोल प्लाजा पर अलग से किसी लाइन का निर्माण नहीं किया जाना है।

सदाकांत ने कहा कि सभी विशिष्ट महानुभावों तथा जन सामान्य के वाहनों के आवागमन हेतु टोल प्लाजा पर सभी सुविधाएं एक समान उपलब्ध रहेगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि जो व्यवस्थाएं वर्तमान में है वही व्यवस्थाएं सभी के लिए एक समान लागू होगी। उन्होंने बताया कि इस सम्बंध में संशोधित शासनादेश आदेश जारी करते हुए समस्त मण्डलायुक्त, समस्त जिलाधिकारी, प्रमुख अभियंता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग तथा रीजनल आफिसर एन.एच.ए.आई. को भेज दिया गया है। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीआईपी कल्चर को खत्म करने के लिए गाड़ियों के ऊपर से लाल बत्ती हटाने का आदेश जारी किया था। यह आदेश 1 मई से प्रभावी है।

इससे पहले खबर आई थी कि यूपी सरकार चाहती है कि सभी नेशनल और राज्य हाइ-वे के टोल प्लाजा पर सांसदों और विधायकों के लिए अलग लेन हो। नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सभी जिले के जिलाधिकारियों को लिखे पत्र में कहा गया है कि यूपी के किसी भी विधायक, एमएलसी और सांसद से टोल टैक्स न वसूला जाए। लेटर में कहा गया है, ‘सभी जिला मैजिस्ट्रेट यह सुनिश्चत करेंगे कि उनके अधिकार क्षेत्र में आने वाले हर टोल प्लाज में विधायकों और सांसदों के लिए एक अलग लेन हो ताकि उन्हें वहां से गुजरने में किसी तरह की असुविधा न हो।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App