ताज़ा खबर
 

मैनपुरी गोवध अफवाह: हिंसा पर मानवाधिकार आयोग ने जारी किया नोटिस

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में गत नौ अक्तूबर को गोवध की अफवाह के बाद हुई हिंसा की खबरों पर स्वत:संज्ञान लेते हुए..

Author लखनऊ | October 20, 2015 18:48 pm

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में गत नौ अक्तूबर को गोवध की अफवाह के बाद हुई हिंसा की खबरों पर स्वत:संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव तथा पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी किया है।

एनएचआरसी द्वारा मंगलवार को जारी बयान के मुताबिक आयोग ने मैनपुरी की घटना में मुख्य सचिव आलोक रंजन तथा पुलिस महानिदेशक जगमोहन यादव को नोटिस जारी करके दो हफ्ते में जवाब देने को कहा है।

गत नौ अक्तूबर को मैनपुरी जिले के करहल स्थित नगरिया गांव में कुछ लोगों द्वारा गाय कथित रूप से काटे जाने की घटना से नाराज भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया था। एक पुलिस जीप समेत कई गाड़ियों तथा दुकानों के फर्नीचर को आग लगा दी थी। वारदात में सात पुलिसकर्मी घायल हुए थे। शुरुआती जांच में पता लगा था कि गाय को काटा नहीं गया था बल्कि वह बीमारी के कारण पहले ही मर चुकी थी। आरोपियों ने उसकी खाल उतारी थी।

आयोग ने कहा कि अगर घटना सच्ची है तो वह गम्भीर और मुल्क के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप को धक्का पहुंचाने वाली है। राज्य सरकार को इन्हें रोकने के लिये निरोधात्मक और दण्डात्मक दोनों ही तरीके के कदम उठाने चाहिये, ताकि समाज के विभिन्न वर्गों को मिले लोकतांत्रिक अधिकारों की रक्षा हो सके।

मालूम हो कि नगरिया गांव में हुई घटना के मामले में 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा प्रकरण में लापरवाही बरतने के आरोप में सम्बन्धित पुलिस क्षेत्राधिकारी को निलम्बित कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App