ताज़ा खबर
 

सामूहिक बलात्कार को छोटी घटना बताने पर सीम खट्टर की मायावती ने की निंदा

बलात्कार पीड़ित बहनों के प्रति सहानुभूति का भाव दिखा कर उनकी पीड़ा को कम करने की बजाय मुख्यमंत्री की इस तरह की गलत बयानबाजी से ही अपराधियों के हौसले बढ़ते हैं।

Author लखनऊ | September 20, 2016 5:15 AM
BSP मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने हरियाणा में दो बहनों से कथित सामूहिक बलात्कार को वहां के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा कथित तौर पर छोटी मोटी घटना बताए जाने पर उनकी तीखी आलोचना करते हुए आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खट्टर के बयान पर संज्ञान लेना चाहिए।मायावती ने हरियाणा के मेवात क्षेत्र में दो बहनों के साथ कथित सामूहिक बलात्कार और बिरयानी में बीफ मिलने के विवादों को खट्टर द्वारा कथित तौर पर छोटी-मोटी लगातार होने वाली घटनाएं बताए जाने की कड़ी आलोचना करते हुए कहा, ‘इस प्रकार के गलत और महिला विरोधी बयानों से भाजपा नेताओं की असली चाल, चरित्र और चेहरा जनता के सामने बेनकाब होता है।’

उन्होंने कहा कि बलात्कार पीड़ित बहनों के प्रति सहानुभूति का भाव दिखा कर उनकी पीड़ा को कम करने और इंसाफ की उम्मीद बढ़ाने की बजाय हरियाणा के भाजपा मुख्यमंत्री की इस तरह की गलत बयानबाजी से ही अपराधियों के हौसले बढ़ते हैं।बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई कर इस प्रकार की जघन्य घटनाओं को रोकने की कोशिश करने की बजाय ऐसी घटना को खट्टर द्वारा छोटी-मोटी घटनाएं बताना बहुत दुखद और शर्मनाक है। उन्होेंने कहा, ‘भाजपा नेतृत्व खासकर प्रधानमंत्री मोदी को इस आपत्तिजनक बयान का नोटिस अवश्य लेना चाहिए क्योंकि उन्होंने (मोदी) ने बेटी बचाओ अभियान की शुरुआत हरियाणा से ही की थी परंतु उनके वहां के मुख्यमंत्री ही स्वयं महिलाओं की आबरू-इज्जत की खास परवाह नहीं कर रहे हैं।’

मायावती ने कहा, ‘इसी प्रकार का गलत और महिला विरोधी मानसिकता से ग्रस्त बयान सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने भी तब दिया था, जब निर्भया कांड के परिप्रेक्ष्य में बलात्कारियों के खिलाफ काफी सख्त कानून बनाने की तैयारी चल रही थी।’उन्होंने कहा कि महिलाओं और युवतियों की इज्जत की जरा भी परवाह नहीं करते हुए यादव ने कहा था कि लड़कों से गलती हो जाती है, उन्हें सख्त सजा नहीं मिलनी चाहिए।मायावती ने कहा कि महिलाओं के आत्मसम्मान और इज्जत आबरू को लेकर घोर निराशाजनक रवैये और मानसिकता का यह परिणाम है कि उत्तर प्रदेश में वर्तमान सपा सरकार के समय महिलाओं के साथ जुल्म ज्यादती और बलात्कार की घटनाएं आम बात हो गई हैं।
उन्होंने कहा, ‘हर दिन महिलाएं जुल्म ज्यादती, बलात्कार और छेड़छाड़ का शिकार हो रही हैं और अपनी जान तक गंवा रही हैं। देश की आम जनता को ऐसी महिला विरोधी मानसिकता रखने वालों के खिलाफ हिम्मत करके आगे आना होगा।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App