ताज़ा खबर
 

लखनऊ: शहर में घुसे तेंदुए से भिड़े दारोगा, लोगों ने लगाए ‘पुलिस जिंदाबाद’ के नारे

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक त्रिलोकी सिंह को तेंदुए को काबू करने में घायल हो गये थे। इसी दौरान तेंदुए को गोली भी लगी।

लखनऊ पुलिस ने कहा कि तेंदुए को काबू करने में आशियाना के SHO घायल हो गये थे।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज (17 फरवरी) एक तेंदुए ने कोहराम मचा दिया। तेंदुए को काबू में करने के लिए पुलिस और वन विभाग के अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। ये तेंदुआ तीन दिन से शहर में आतंक मचा रहा था आखिरकार पुलिस को तेंदुए को गोली मारनी पड़ी।  पुलिस के मुताबिक जब जवानों की टीम तेंदुए को पकड़ने की कोशिश कर रही थी, तभी इस खूंखार जानवर ने आशियाना क्षेत्र के एसएचओ त्रिलोकी सिंह पर हमला कर दिया। इस हमले में त्रिलोकी सिंह घायल हो गये। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक त्रिलोकी सिंह को तेंदुए को काबू करने में घायल हो गये थे। इसी दौरान तेंदुए को गोली भी लगी। गोली लगने के बाद तेंदुआ एक घर में जाकर छिप कर बैठ गया था। इस दौरान तेंदुए का काफी खून बह गया। इस क्रम में तेंदुए की मौत हो गई। तेंदुए को रोकने के लिए वन विभाग का पिंजरा भी बेकार हो गया था।

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने घायल पुलिस अधिकारी की तारीफ की और जिंदाबाद के नारे लगाये।रिपोर्ट्स के मुताबिक तेंदुए को गोली मारे जाने पर वन विभाग की टीम ने नाराजगी जताई है। कई लोगों ने पुलिस की कार्य प्रणाली पर सवाल भी उठाए हैं। हालांकि तेंदुए को वश में करने के लिए पुलिस की टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी। आबादी वाला इलाका होने की वजह से भी पुलिस सावधानी से काम कर रही थी। पहले वन विभाग और पुलिस को उम्मीद थी कि तेंदुआ खेत में छिपा है। तेंदुए को घेरने के लिए वन विभाग और पुलिस की टीम बांस की बल्लियां इस्तेमाल कर रही थी, इसी दौरान तेंदुआ भागने में कामयाब रहा। तेंदुए को काबू में करने के लिए एक बार ट्रैंकुलाइजर का भी इस्तेमाल किया गया लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X