ताज़ा खबर
 

UP: हिंदू धर्म के खिलाफ गलत प्रचार कर बदलवा रहे धर्म, 271 लोगों के खिलाफ FIR

शिकायतकर्ता वकील ब्रिजेश सिंह (HJM कार्यकर्ता) का आरोप है कि आरोपी पिछले कुछ सालों से जौनपुर, आजमगढ़, वाराणसी और गाजीपुर जिले में लोगों को चर्च का दौरा करने और प्रार्थना में भाग लेने के लिए आश्वस्त कर रहे थे।

Author September 6, 2018 12:26 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में पुलिस ने बुधवार (5 सितंबर, 2018) को 271 लोगों के खिलाफ एफआईर दर्ज की है। पुलिस ने ऐसा कोर्ट के आदेश के बाद किया है। दरअसल जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है उनपर आरोप है कि वो हिंदू धर्म के खिलाफ गलत प्रचार कर रहे थे और लोगों का धर्म बदलवाकर उन्हें क्रिस्चन बना रहे थे। जानकारी के मुताबिक जिन तीन आरोपी धार्मिक गुरुओं की पहचान की गई है वो जौनपुर जिले के ही हैं। एफआईआर में उनके नाम दुर्गा प्रसाद यादव, कीर्ति राय, जितेंद्र राम बताए गए हैं। एफआईआर में अन्य आरोपियों को इनके सहयोगियों के रूप में वर्णित किया गया है। एफआईआर जिले के चंदवक पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है।

दरअसल कोर्ट में हिंदू जागरण मंच (HJM) के एक कार्यकर्ता ने याचिका दाखिल की, जिसके जवाब में इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए गए। शिकायतकर्ता वकील ब्रिजेश सिंह (HJM कार्यकर्ता) का आरोप है कि आरोपी पिछले कुछ सालों से जौनपुर, आजमगढ़, वाराणसी और गाजीपुर जिले में लोगों को चर्च का दौरा करने और प्रार्थना में भाग लेने के लिए आश्वस्त कर रहे थे।

शिकायतकर्ता के मुताबिक हर रविवार और मंगलवार को चर्च में प्रार्थना के बाद पादरी लोगों के हिंदू धर्म के बारे में गलत बातें बताते थे। हिंदू धर्म के खिलाफ झूठा प्रचार करते थे। इसके अलावा लोगों का धर्म बदलकर उन्हें क्रिस्चन बनाया जाता था। ब्रिजेश सिंह ने दावा करते हुए कहा, ‘पादरी द्वारा लोगों को प्रतिबंधित दवाएं और ड्रग्स भी दिए जाते थे। ऐसा लोगों को क्रिस्चन धर्म में शामिल करवाने के लिए किया जाता था।’

बाद में ब्रिजेश सिंह दो अगस्त को अदालत में पहुंचे और मामले में एफआईआर दर्ज कराने की अपील की। उनकी अपील पर कोर्ट ने 31 अगस्त को पुलिस से मामले में एफआईआर दर्ज करने को कहा और जांच के आदेश दिए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App