ताज़ा खबर
 

अलीगढ़ छोड़कर जाने को तैयार हिंदू परिवार, लोगों ने कहा- हम कब तक सहते रहेंगे

तनाव का माहौल एक हिंदू महिला से छेड़छाड़ और उसके साथ लूट के बाद से है। पुलिस ने मामले में मुख्‍य आरोपी नदीम को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन हिंदू नाराज है।

Author अलीगढ़ | Updated: July 24, 2016 8:59 AM
अलीगढ़ के बाबरी मंडी इलाके में पिछले कुछ दिनों से काफी तनाव है। (Express photo by Manoj Aligadi)

उत्‍तर प्रदेश के अलीगढ़ शहर में पिछले दो दिनों से तनाव का माहौल है। शाम ढलते ही दुकानें बंद हो जाती है और लोग घरों में कैद हैं। सड़कों और गलियों में सीआरपीएफ और पुलिस तैनात हैं। तनाव का माहौल एक हिंदू महिला से छेड़छाड़ और उसके साथ लूट के बाद से है। पुलिस ने मामले में मुख्‍य आरोपी नदीम को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन हिंदू नाराज है। चंडीगढ़ से एक सप्‍ताह बाद वापस अलीगढ़ लौटे मणि कुमार ने बताया, ”मैं शनिवार सुबह वापस आया और घटना के बारे में सुना। हिंदुओं के साथ जो कुछ भी हो रहा है वह गलत है। हम कब तक सहते रहेंगे?” मणि कुमार अब अलीगढ़ में अपना घर बेचना चाहते हैं। उन्‍होंने एक प्रोपर्टी डीलर से मुलाकात की और पता किया कि घर को अच्‍छी कीमत पर कैसे बेच सकते हैं। गौरतलब है कि बुधवार को स्‍थानीय गुंडों ने एक महिला से छेड़छाड़ की थी। इसके बाद हुए झगड़ा के चलते तनाव है।

पीडि़त महिला ने घटना के बारे में विस्‍तार से बताया। उसने कहा, ”मुझे लगा कि मैं कभी घर नहीं लौट पाऊंगी। जब मैं बाइक पर जा रही थी तब उन्‍होंने मेरा पल्‍लू पकड़ना चाहा। उन्‍होंने मेरी गर्दन पकड़ी और बालों से पकड़कर घसीटते हुए सुनसान गली में ले गए। मैं चिल्‍लाई लेकिन कोई बचाने नहीं आया। जब मेरे पति आए तो उन्‍होंने चाकू से उन पर हमला किया।” महिला ने दावा कि हमलावर उसकी सोने की चैन, मंगलसूत्र और फोन ले गए लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया। उसने बताया, ”पुलिस ने फोन रिकवर कर लिया लेकिन मेरे बाकी सामान के बारे में नहीं बताया।” उसने कहा कि वह हमलावरों को पहचानती हैं लेकिन पुलिस ने शिनाख्‍त परेड कराने से मना कर दिया।

अलीगढ़: हिंदू परिवारों में दहशत, घर के बाहर लिखा FOR SALE, प्रशासन से लगाई गुहार- हमारी जान को खतरा है

महिला के पति ने बताया, ”मैं बाबरी मंडी में ही जन्‍मा और पला-बढ़ा। नदीम और उसके साथी कोई काम नहीं करते। वे लोगों को डराते हैं और लूटते हैं।” एडिशनल डीएम अवधेश तिवारी से शुक्रवार को मिलने और उनसे मकान और दुकाने खरीदने को कहने के बाद ज्‍यादातर हिंदू परिवारों ने अपना सामान बांध लिया। पुलिस उन्‍हें मनाने की कोशिश कर रही है। हिंदू और मुस्लिम वर्तमान स्थिति पर बंटे हुए नजर आते हैं। नदीम के परिवार की एक महिला ने कहा, ”आप देख सकते हैं कि हमारी बेटियां सुरक्षित हैं और हमारा इलाका शांत है। ये हिंदुओं और भाजपा के लोगों की साजिश है।” हार्डवेयर की दुकान चलाने वाले मोहियूद्दील भी भाजपा और आरएसएस को दोष देते हैं और कहते हैं, ”वे फिर से अपने असली रंग दिखा रहे हैं।” स्‍थानीय सपा नेता आईनुद्दीन कुरैशी ने एक बैनर की ओर इशारा करते हुए पढ़ा, ”मेयर शकुंतला भारती यहां कैराणा बनाना चातही हैं, हमें बचाओ।” वे कहते हैं, ”इसे देखिए, यह बाबरी मंडी की सच्‍चाई है।”

अलीगढ़: 59 साल के जज साहब ने शादी के 6 महीने बाद ही 3 बार तलाक कहकर पत्‍नी को छोड़ा, CJI के पास पहुंची महिला

अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने शनिवार को महिला से मुलाकात की। उन्‍होंने बदमाशों को चेताते हुए कहा, ”जिसमें हिम्‍मत है हमारी बहू बेटियों को हाथ लगा के दिखाए।” गौतम के बाद हिंदू महासभा की नेता गीता शकुन पांडे महिला के घर पहुंचीं। उनकी महिला के ससुराल वालों से बहस होती है। महिला के ससुराल वाले उनसे नेतागीरी न करने को कहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 UP चुनाव: सोनिया गांधी ने झंडा दिखाकर बस को किया रवाना, दिया नारा- ‘27 साल UP बेहाल
2 अलीगढ़: हिंदू परिवारों में दहशत, घर के बाहर लिखा FOR SALE, प्रशासन से लगाई गुहार- हमारी जान को खतरा है
3 मुलायम से पंगा लेने वाले IPS अब मायावती पर हमलावर, कहा-दयाशंकर ने गलत ढंग से कही सही बात
जस्‍ट नाउ
X