ताज़ा खबर
 

पूर्व सांसद अतीक अहमद के गुर्गों ने बिल्‍डर को किया अगवा, जेल के भीतर पीटा, लिखवा ली कंपनियां

मोहित ने कहा कि 2 साल पहले वह अपना बिजनेस कर रहे थे। तब अतीक अहमद के गुर्गों ने उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया। दो साल पहले दवाब बनाकर पैसा लिया गया। अब पिछले 4 महीने से फिर परेशान करना शुरू कर दिया।

Author December 30, 2018 1:25 PM
अतीक अहमद (फाइल)

लखनऊ के गोमतीनगर के बिल्डर मोहित को पूर्व सांसद अतीक अहमद के गुर्गों ने अगवा कर लिया था। स्थानीय अखबारों में छपी खबर के मुताबिक अगवा करने के बाद वह मोहित को देवरिया जेल में बंद अतीक अहमद के पास लेकर गए। वहां बिल्डर की खूब पिटाई की गई। उसकी कंपनियों को भी अतीक अहमद ने दूसरों के नाम लिखवा दिया। बिल्डर की गाड़ी भी छीन ली। इसकी जानकारी जब मोहित ने पुलिस को दी तो एसएसपी ने कार्रवाई करने के निर्देश दिए और दो लोगों को अरेस्ट करके गाड़ी बरामद कर ली। बिल्डर मोहित जायसवाल का ऑफिस लखनऊ के गोमतीनगर के विराट खंड में है। वह आलमबाग के विश्वेश्वर नगर में रहते हैं। मोहित का आरोप है कि बुधवार 26 दिसंबर को अतीक अहमद के गुर्गे उन्हें अगवा करके अतीक अहमद के पास देवरिया जेल में ले गए थे। जेल में जब वह पहुंचा तो वहां अतीक अहमद का बेटे उमर के अलावा जफरउल्लाह, गुलाब सरवर समेत 10-12 अज्ञात लोग मौजूद थे। वहां मोहित की खूब पिटाई की गई। उसके हाथ की अंगुलियों की हड्डी टूट गई हैं।

बिल्डर का आरोप है कि उनकी कंपनी एमजे इंफ्रा के नाम से उनकी चार संपत्तियां हैं जिन्हें दूसरों के नाम लिखवा लिया। इसके अलावा उन कंपनियों में मोहित की बहन का भी शेयर था। मोहित से ही बहन के फर्जी साइन भी करा लिए गए। दरअसल बहन कंपनी में निदेशक हैं। इतना ही नहीं मोहित की कंपनी के सादे लेटर पैड छीन लिए और मोहित का इस्तीफा भी ले लिया। मोहित को धमकी दी गई कि ‘मजबूरी में तुम्हें छोड़ रहे हैं। जेल के भीतर हत्या नहीं कर सकते।’

मोहित ने लखनऊ के कृष्णानगर थाने में इसकी तहरीर दी थी। इस घटना के बाद से पुलिस ने मोहित और उसके परिजनों की सुरक्षा बढ़ा दी है। इसके अलावा मोहित को एक गनर भी दे दिया है। मोहित ने पुलिस को पूरी कहानी बताई। उन्होंने कहा कि 2 साल पहले वह अपना बिजनेस कर रहे थे। तब अतीक अहमद के गुर्गों ने उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया।  दो साल पहले दवाब बनाकर पैसा लिया गया। अब पिछले 4 महीने से फिर परेशान करना शुरू कर दिया। मोहित ने करीब 50 कॉल्स की रिकॉर्डिंग पुलिस को सौंपी हैं। यह कॉल्स देवरिया जेल से किए गए थे। रिकॉर्डिंग में मोहित को धमकाया जा रहा है। आरोपित धमकाते हुए कह रहा है कि मेरे लड़के जैसा कह रहे हैं वैसा करो वरना तुम जानते हो कि हम क्या कर सकते हैं। पुलिस ने कॉल रिकॉर्ड्स की जांच शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X