ताज़ा खबर
 

1990 में राजीव गांधी गए थे, अब राहुल जा रहे अयोध्या, सुबह हनुमान गढ़ी में करेंगे पूजा तो शाम को जाएंगे दरगाह

1990 में राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी गए थे अयोध्या, हालांकि व्यस्तता के कारण वो हनुमान गढ़ी मंदिर में नहीं कर सके थे पूजा।
Author September 8, 2016 09:57 am
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार (9 सितंबर) को उत्तर प्रदेश में जारी अपनी ‘किसान यात्रा’ का पांचवा दिन अयोध्या के हनुमान गढ़ी मंदिर में पूजा करके शुरू करेंगे। राहुल 1992 में बाबरी मस्जिद के गिराए जाने के बाद अयोध्या आने वाले गांधी परिवार के पहले सदस्य होंगे। उनके पिता राजीव गांधी को 1990 में उनकी ‘सद्भावना यात्रा’ के दौरान हनुमान गढ़ी मंदिर जाना था। व्यस्त कार्यक्रम के कारण राजीव मंदिर नहीं जा सके थे। एक कांग्रेस नेता ने बताया, “लेकिन वो अयोध्या आए थे।” हनुमान गढ़ी मंदिर बाबरी मस्जिद की विवादित भूमि से करीब एक किलोमीटर दूर स्थित है। एक तरह से राहुल गांधी अयोध्या में अपनी यात्रा वहीं से शुरू कर रहे हैं जहां 26 साल पहले उनके पिता ने छोड़ी थी। शुक्रवार शाम को ही यूपी के अमेठी के सांसद राहुल आंबेडकर नगर स्थित किचौचा शरीफ दरगाह भी जाएंगे।

एक कांग्रेस नेता ने बताया कि सोनिया गांधी और परिवार के दूसरे सदस्य पिछले चुनावों में कई बार फैजाबाद आए हैं लेकिन गांधी परिवार को कोई भी सदस्य 1992 में मस्जित गिराए जाने के बाद अयोध्या नहीं आया। 1990 में राजीव गांधी के आने से पहले उनकी मां इंदिरा गांधी 1960 में अयोध्या आई थीं। कांग्रेसी नेता के अनुसार इंदिरा सरयू नदी के किनारे किसी विकास परियोजना का उद्घाटन करने आई थीं।

शुक्रवार को राहुल आंबेडकर नगर जाने से पहले फैजाबाद शहर में एक रोड शो भी करेंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार शनिवार को उन्हें समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ जाना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Ravindra Agrawal
    Sep 8, 2016 at 2:50 pm
    चुनाव का मौसम - दरगाह और मंदिर जाने का मौसम. वैसे बकौल राहुल जो लोग लड़कियां छेड़ते है वे ही मंदिर जाते है, क्या अब राहुल भी ...........
    (0)(0)
    Reply
    1. Ravindra Agrawal
      Sep 8, 2016 at 2:53 pm
      राहुल राम को नहीं मानते परंतु चुनाव की मज़बूरी है वे क्या करे? उन्हें वास्तव में राम से नहीं वोटर से मतलब है ........वोट मिलने की गारंटी हो तो वे चुनाव से पहले ही राम का मंदिर भी बनवा देंगे .....
      (0)(0)
      Reply
      1. राम सागर
        Sep 8, 2016 at 5:32 am
        राहुल के बोल मै राम को नही मानता फीर हनुमान जी के मंदिर क्यो नौटंकी करने जा रहा है
        (1)(0)
        Reply