अरविंद केजरीवाल पर CM योगी का हमला, बोले- लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों को भगाया था, अब चुनाव में नजर आ रहा है यूपी

आदित्यनाथ ने कहा, पहले भगवान राम को गाली देते थे, लेकिन आज जब लगता है कि बिना भगवान राम के नैया पार होने वाली नहीं है तो अयोध्या में राम का दर्शन करने आ रहे हैं।

Yogi Adityanath
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (एक्सप्रेस- फाइल फोटो)

जैसे-जैसे यूपी का विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है, राजनीतिक दलों के नेताओं की बयानबाजी भी तेज होती जा रही है। सभी दल एक-दूसरे पर राज्य की जनता के भलाई के लिए काम नहीं करने का आरोप लगा रहे हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को ऐलान किया कि उनकी सरकार ‘मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना’ के तहत अब दिल्ली वासियों को अयोध्या के भी नि:शुल्क दर्शन कराएगी। उनके इस बयान पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जोरदार हमला बोला है।

वे बोले- लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रवासी मजदूरों को भगाया था, अब चुनाव में यूपी नजर आ रहा है। जब इनको मौका मिला था, तब इन्होंने यूपी और बिहार के प्रवासियों को दिल्ली में नहीं रोक सके, उनके लिए रहने-खाने की व्यवस्था नहीं कर सके। अब उनको तरह-तरह की चीजें मुफ्त उपलब्ध कराने के वादे करके चुनाव में फायदा उठाना चाहते हैं। पहले भगवान राम को गाली देते थे, लेकिन आज जब लगता है कि बिना भगवान राम के नैया पार होने वाली नहीं है तो अयोध्या में राम का दर्शन करने आ रहे हैं। ठीक है, कम से कम राम के अस्तित्व को स्वीकार तो किया।

इससे पहले सीएम योगी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान सपा, बसपा और कांग्रेस के लोग आइसोलेशन में थे तो अब यूपी चुनाव में भी इनको आइसोलेशन में ही रखना होगा। उन्होंने पूछा कि क्या जनता ने सपा, बसपा और कांग्रेस को प्रदेश में शासन करने का अवसर नहीं दिया। जब इनको अवसर मिला तब इन्होंने कुछ नहीं किया और अब चुनाव आ गया तब ये जनता के लिए वादों के पिटारे खोल दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भारतीय जनता पार्टी के पिछड़ा वर्ग मोर्चा द्वारा सिलसिलेवार आयोजित किये जा रहे ‘सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन’ में मंगलवार को लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इनकी बातों से दूर ही रहना है, नहीं तो ये जनता को भ्रमित करते रहेंगे।

सोमवार को उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विपक्षी दलों पर तीखा प्रहार करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी दलों को इसलिए बर्दाश्त नहीं हो रहे हैं, क्योंकि “मोदी जी ने भ्रष्टाचार के रास्‍ते बंद कर दिए हैं”। उनके सात उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा समेत कई प्रमुख नेताओं ने भी सभा को संबोधित किया था। लखनऊ के अलीगंज स्थित पंचायत भवन में आयोजित ‘सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने जनता का आह्वान किया, “आपको 2022 (उप्र विधानसभा चुनाव) में फिर से सुशासन, विकास, उन्नति, गरीबों की खुशहाली का कमल खिलाना है।”

पढें लखनऊ समाचार (Lucknow News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट