ताज़ा खबर
 

पीएम के सम्मान में योगी ने घर पर दी दावत, मुलायम के साथ बैठे मोदी, नजर नहीं आए अखिलेश-मायावती

योगी आदित्यनाथ की ओर से अखिलेश यादव और बीएसपी सुप्रीमो मायावती दोनों को डिनर का न्योता दिया गया था, लेकिन दोनों ही नेता नहीं आए। वहीं, हाल ही में नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा आयोजित डिनर पार्टी में अखिलेश और मायावती दोनों नेता पहुंचे थे।

पीएम मोदी और मुलायम सिंह यादव। (FILE PHOTO)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सम्मान में मंगलवार को डिनर पार्टी का आयोजन किया। योगी के घर पर आयोजित डिनर पार्टी में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव शामिल हुए और पीएम के साथ बैठे। वहीं, मुलायम सिंह बेटे और सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती ने पार्टी से दूरी बनाई। जबकि अन्य नेताओं ने इसे राष्ट्रपति चुनाव से पहले “डिनर डिप्लोमेसी” करार दिया। बीजेपी ने हाल ही में बिहार के राज्यपाल राम नाथ कोविंद को एनडीए का राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित किया।

सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ की ओर से अखिलेश यादव और बीएसपी सुप्रीमो मायावती दोनों को डिनर का न्योता दिया गया था, लेकिन दोनों ही नेता नहीं आए। वहीं, हाल ही में नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा आयोजित डिनर पार्टी में अखिलेश और मायावती दोनों नेता पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी डिनर टेबल पर मुलायम के साथ बैठे। उनके साथ आदित्यनाथ, यूपी के राज्यपाल राम नाईक, विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित और इलाहाबाद हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डीबी भोसले भी टेबल पर मौजूद रहे। यूपी विधान परिषद के नेता रमेश यादव इस पार्टी में शरीक हुए। इसके अलावा सपा और बसपा के किसी नेता को पार्टी में नहीं देखा गया।

बीजेपी के अंदरुनी लोगों का कहना है कि सीएम द्वारा अपने पूर्ववर्तियों को पार्टी में बुलाने के पीछे की वजह राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के कैंडिडेट के लिए सभी को चर्चा का एक मंच उपलब्ध कराना था। बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मुलायम सिंह यादव का आना प्रत्याशित था। प्रधानमंत्री ने आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान भी मुलायम को सम्मान दिया था। हमें उम्मीद थी कि मायावती और अखिलेश पार्टी में नहीं आएंगे। सूत्रों के मुताबिक सीएम की इस डिनर पार्टी में 200 गणमान्य व्यक्ति शामिल हुए थे, जिन्हें शाकाहारी खाना परोसा गया। योगी के कैबिनेट सहयोगियों के अलावा, समाजसेवी, जाने-माने डॉक्टर्स, जज, रिटायर्ड आईएएस और आईपीएस अधिकारी तथा स्थानीय बीजेपी नेता इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

सोमवार को बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने राम नाथ कोविंद की राष्ट्रपति उम्मीदवारी को लेकर बयान दिया था। बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि विपक्ष ने अगर दलित समुदाय से कोविंद से ज्यादा पापुलर और काबिल शख्स को नहीं उतारा तो उनकी पार्टी कोविंद की दावेदारी पर सकरात्मक रुख अपनाएगी क्योंकि वह दलित हैं।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2017: युवाओं के साथ पीएम मोदी ने किया योग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App