ताज़ा खबर
 

उप्र कैबिनेट में गायत्री के वापसी पर बोलीं मायावती, अखिलेश बने ‘यूटर्न’ लेने वाले मुख्यमंत्री

मायावती ने कहा कि जनहित-विकास के काम करने के जो भी दावे अखिलेश सरकार विज्ञापनों के जरिए कर रही है, उनमें से अधिकांश कार्य बसपा शासनकाल में शुरू हुए।
Author लखनऊ | September 26, 2016 19:03 pm
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती। (पीटीआई फाइल फोटो)

बसपा सुप्रीमो मायावती ने गायत्री प्रजापति को सपा सरकार में फिर शामिल किए जाने की निन्दा करते हुए सोमवार (26 सितंबर) को कहा कि अखिलेश यादव ने खुद को कमजोर एवं ‘यू टर्न’ लेने वाला मुख्यमंत्री साबित किया है। मायावती ने कहा, ‘भूतत्व एवं खनन मंत्री के रूप में भ्रष्टाचार में लिप्त होने के आरोप में कुछ दिन पूर्व बर्खास्त किए गए गायत्री प्रसाद प्रजापति को दोबारा मंत्री बनाकर वर्तमान सपा सरकार के मुखिया (अखिलेश) ने ना केवल अपने आपको एक अत्यंत ही कमजोर व यूटर्न लेने वाला मुख्यमंत्री साबित किया है बल्कि यह भी जगजाहिर हो गया है कि इस सपा सरकार में खराब कानून व्यवस्था के साथ साथ यहां भ्रष्टाचार भी बेलगाम जारी रहेगा।’

उन्होंने गायत्री को उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ सपा सरकार की कैबिनेट में शामिल किए जाने पर बयान के जरिए जारी प्रतिक्रिया में कहा, ‘प्रदेश की जनता यह समझ नहीं पा रही है कि जिस मंत्री को अभी हाल ही में खनन विभाग में जबर्दस्त भ्रष्टाचार के आरोप में बर्खास्त किया गया था तथा जिस विभाग में व्यापक भ्रष्टाचार के मामले पर उच्च न्यायालय ने सीबीआई जांच का आदेश दिया है तो उसे फिर किस मजबूरी में दोबारा मंत्री बना दिया गया।’ मायावती ने कहा कि अगर उस मंत्री का विभाग भी बदल दिया जाता है तो क्या उस मंत्री का चरित्र, चाल और स्वभाव बदल जाएगा? बसपा सुप्रीमो ने कहा कि जनहित और विकास के काम करने के जो भी दावे अखिलेश सरकार विज्ञापनों के जरिए कर रही है, उनमें से अधिकांश कार्य बसपा शासनकाल में शुरू हुए थे तथा अब उनमें भी भ्रष्टाचार किया जा रहा है जो बेलगाम जारी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.