गैर-यादव ओबीसी वोट बैंक पर बीजेपी का दांव- यूपी के हर जिले में कर्पूरी ठाकुर के नाम पर सड़क - bjp to lure non yadav voters of uttar pradesh by naming a road in every village after former bihar cm Karpoori Thakur bjp cm yogi adityanath - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गैर-यादव ओबीसी वोट बैंक पर बीजेपी का दांव- यूपी के हर जिले में कर्पूरी ठाकुर के नाम पर सड़क

कर्पूरी ठाकुरी को बिहार में अत्यंत पिछड़ी जातियों को राजनीतिक रुप से सक्रिय करने और उन्हें सियासत की मुख्यधारा में लाने का शिल्पकार माना जाता है। उनका निधन 1988 में हुआ था। बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कर्पूरी ठाकुर के एजेंडे पर ही चलते हुए गैर यादव ओबीसी वोटर्स का एक समूह तैयार किया, जो आज भी उनके कोर समर्थक हैं।

Author August 10, 2018 12:16 PM
बिहार के पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर।

उत्तर प्रदेश में महागठबंधन की खबरों के बीच राज्य में भारतीय जनता पार्टी को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और कद्दावर ओबीसी नेता रहे कर्पूरी ठाकुर याद आए हैं। चुनाव से पहले बीजेपी ओबीसी समुदाय के बीच उनकी लोकप्रियता को भुनाना चाहती है। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने घोषणा की है कि हर जिले में कम से कम एक सड़क का नाम बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री के नाम पर रखा जाएगा। केशव प्रसाद मौर्या के पास राज्य का लोक निर्माण विभाग भी है। कर्पूरी ठाकुरी को बिहार में अत्यंत पिछड़ी जातियों को राजनीतिक रुप से सक्रिय करने और उन्हें सियासत की मुख्यधारा में लाने का शिल्पकार माना जाता है। उनका निधन 1988 में हुआ था। कर्पूरी ठाकुर दो बार बिहार के सीएम रहे थे। बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कर्पूरी ठाकुर के एजेंडे पर ही चलते हुए गैर यादव ओबीसी वोटर्स का एक समूह तैयार किया, जो आज भी उनके कोर समर्थक हैं।

बीजेपी उत्तर प्रदेश में गैर यादव वोटों को एकजुट करना चाहती है, ताकि एसपी को जोरदार टक्कर दी जा सके। केशव प्रसाद मौर्या खुद गैर यादव ओबीसी कैटेगरी से आते हैं। गुरुवार को लखनऊ में नाई समाज के एक कार्यक्रम में उन्होंने यूपी के हर जिले में एक सड़क का नाम कर्पूरी ठाकुर के नाम पर रखने की घोषणा की। भारतीय जनता पार्टी यूपी के ओबीसी वोटर्स तक पहुंचने की जी तोड़ कोशिश कर रही है। इसके तहत बीजेपी सामाजिक प्रतिनिधि बैठक आयोजित कर रही है, लखनऊ में आयोजित इन बैठकों में जातियों के प्रतिनिधि शिरकत करते हैं। ये बैठकें मंगलवार से शुरू हुई हैं। ऐसे ही एक बैठक को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि कांग्रेस, एसपी और बीएसपी नरेंद्र मोदी को दुबारा प्रधानमंत्री बनने से रोकने की कोशिश कर रही है, इसलिए ओबीसी समुदाय को एकजुट होना चाहिए।

बुधवार (8 अगस्त) को हुई ऐसी ही एक मीटिंग में राजभर समुदाय के लोगों से बात की गई थी, जबकि मंगलवार को प्रजापति (कुम्हार) समुदाय की बैठक थी। सीएम योगी ने इन दोनों बैठकों को संबोधित किया। राजभर समुदाय की बैठक में सीएम ने 11 शताब्दी के राजा सुहेलदेव का स्मारक बनाने की घोषणा की। माना जाता है कि राजा सुहेलदेव राजभर समुदाय से थे। बीजेपी के ओबीसी शाखा के राज्य महासचिव चिरंजीव चौरसिया ने कहा कि जिलास्तर पर ऐसी कई बैठकें की जाएगी। ये बैठकें छोटी ओबीसी जातियों के लिए होगीं। उन्होंने कहा कि इन बैठकों का मकसद लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए समर्थन हासिल करना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App