ताज़ा खबर
 

BJP ने मायावती की सफाई को बताया हस्यास्पद, कहा- पहले अपने गिरेबां में झांके

देश की जनता यह अच्छी तरह समझती है कि किसी महिला को ‘पेश करने’ का क्या मतलब होता है।

Author लखनऊ | July 24, 2016 4:31 PM
भाजपा नसीमुद्दीन के खिलाफ कार्रवाई के रुख पर कायम है। (file photo)

भाजपा ने बसपा मुखिया मायावती पर ‘गाली प्रकरण’ को लेकर कुतर्क करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि दूसरों से कार्रवाई की अपेक्षा करने वाली इस बसपा नेता को पहले अपने गिरेबां में झांकना चाहिये। भाजपा के प्रान्तीय महासचिव विजय बहादुर पाठक ने ‘भाषा’ से कहा कि मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस में अपने कार्यकर्ताओं की ‘पेश करो’ की टिप्पणी पर अधकचरी और हास्यास्पद सफाई दी है। देश की जनता यह अच्छी तरह समझती है कि किसी महिला को ‘पेश करने’ का क्या मतलब होता है।

उन्होंने कहा कि दूसरों से अपेक्षा करती मायावती अपने गिरेबां में झांककर देखें। वह अपने सहयोगी नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करतीं, जिनके सामने बसपा कार्यकर्ता ‘दयाशंकर सिंह की बीवी को पेश करो-पेश करो’ के नारे लगाकर नारी का अपमान कर रहे थे।

पाठक ने कहा कि पेश करो की टिप्पणी को ‘दूषित मानसिकता’ से देखे जाने की बात करने वाली मायावती दयाशंकर सिंह की पत्नी और मां के सवालों पर खामोश क्यों हैं। अपनी टिप्पणी को लेकर सिंह ने, केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली और खुद भाजपा ने माफी मांगी लेकिन जिस तरह से सिंह की मासूम बेटी के बारे में कहा गया उसके लिये ना तो नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने माफी मांगी और ना ही मायावती ने।

पाठक ने कहा कि भाजपा नसीमुद्दीन के खिलाफ कार्रवाई के रुख पर कायम है। मिलीभगत तो बसपा और सपा में है। सिंह की गिरफ्तारी के लिये तो छापे पड़ रहे हैं, लेकिन जिन लोगों पर मुकदमा दर्ज है वे खुलेआम प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App