ताज़ा खबर
 

यूपी: बिजनौर में छेड़छाड़ के बाद साम्प्रदायिक हिंसा, गोलीबारी में चार की मौत

Bijnor Violence: घटना पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले की है, जहां स्कूल जा रही एक लड़की से छेड़छाड़ के बाद हिंसा भड़क गई।

Author बिजनौर | September 16, 2016 10:47 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में छेड़छाड़ के बाद सांप्रदायिक हिंसा हो गई। छेड़छाड़ से भड़के लोगों ने आरोपी पक्ष पर फायरिंग कर दी जिसमें
चार लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 लोग घायल हो गए। घायलों में से पांच की हालत गंभीर है और उन्हें मेरठ ले जाया गया है। इस संबंध में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है।पुलिस के अनुसार, घटना नजीबाबाद मार्ग पर स्थित पेदा गांव की है, जहां शुक्रवार सुबह स्कूली छात्रा के साथ छेड़छाड़ की घटना के बाद दो सांप्रदाय के लोगों में मारपीट हुई। इसके बाद से ही वहां तनाव फैल गया और धीरे-धीरे हिंसक रूप ले लिया। शुरुआत में दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पत्थर फेंके, मगर बाद में गोलीबारी शुरू हो गई। एक समुदाय की ओर से की गई गोलीबारी में उसी गांव के निवासी अहसान, सरताज, अनीस की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं एक अन्य महिला की भी मौत हुई है। मरने वालों में दो सगे भाई हैं।

घटना में करीब एक दर्जन लोग घायल हुए हैं, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए मेरठ भेजा गया है। फायरिंग के बाद से ही आरोपी फरार हो गए। हत्या के बाद भड़के लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। गुस्साए लोगों ने मृतकों के शव नेशनल हाइवे पर रखकर हंगामा शुरू कर दिया। आक्रोशित लोगों ने नेशनल हाइवे पर जाम तक लगा दिया। मामला दो संप्रदायों से जुड़ा होने के कारण पुलिस के उच्च अधिकारियों को भारी बल के साथ गांव पहुंचना पड़ा।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) दलजीत सिंह ने बताया कि इस घटना में चार लोगों की मौत हुई है और 12 लोग घायल हुए थे, जिनमें तीन की हालत गंभीर है। उन्होंने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर सात लोगों को गिरफ्तार किया गया हैं। सिंह ने बताया कि सौहार्द खराब करने के लिए इस घटना को अंजाम दिया गया है। उन्होंने बताया कि दोषियों पर रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में भय का वातावरण समाप्त करने के लिए बाहर से बल को बुलाया गया है। उन्होंने बताया कि लापरवाही के आरोपी एक दरोगा को निलंबित किया गया है। सचिव (गृह) मणिप्रसाद मिश्रा ने कहा कि हम मुख्यमंत्री के आदेश पर आए हैं और माहौल शांत होने तक यहीं कैम्प करेंगे। उन्होंने लोगों से संयम बरतने की अपील की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App