ताज़ा खबर
 

उप्र में हो रहा निवेश सपा की सत्ता में वापसी के प्रति यकीन की निशानी: अखिलेश

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में पिछले तीन दशक से भी ज्यादा समय से कोई भी सरकार दोबारा नहीं लौटी है। लेकिन इस बार हालात बदले हुए हैं।

Author लखनऊ | September 2, 2016 9:31 PM
यूपी के सीएम अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनाव में चंद महीने बाकी रहने के बावजूद सूबे में बड़े पैमाने पर हो रहे निवेश को उनकी सरकार की सत्ता में दोबारा वापसी के प्रति निवेशकों के विश्वास की निशानी करार देते हुए शुक्रवार (2 सितंबर) को कहा कि सूबे में साल 2012 जैसे हालात फिर पैदा हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे परियोजना से जुड़े अधिकारियों के सम्मान समारोह में कहा ‘व्यापारियों को सबसे पहले मालूम हो जाता है कि प्रदेश में किसकी सरकार बनने जा रही है। प्रदेश के विधानसभा चुनाव कुछ ही महीने दूर हैं, इसके बावजूद सूबे में बड़े पैमाने पर निवेश हो रहा है। यह सपा सरकार की वापसी के प्रति व्यवसायियों के विश्वास को दर्शाता है।’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में पिछले तीन दशक से भी ज्यादा समय से कोई भी सरकार दोबारा नहीं लौटी है। लेकिन इस बार हालात बदले हुए हैं। राज्य में वर्ष 2012 जैसी स्थितियां फिर पैदा हो रही हैं, जब सपा ने पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15803 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback

अखिलेश ने देश के सबसे लम्बे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को रिकॉर्ड 22 महीनों में पूरा कराने में सहयोग देने वाले सभी अधिकारियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस परियोजना से साबित हो गया है कि सरकारी बुनियादी परियोजनाएं भी टीम वर्क के माध्यम से समय से पूरी की जा सकती हैं। मुख्यमंत्री ने रियो ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने वाले निशानेबाज जीतू राई को 10 लाख रुपए का चेक एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने राई को शुभकामना देते हुए कहा कि इन्होंने अपनी प्रतिभा की बदौलत विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में कई पदक प्राप्त किए हैं। अभी इनकी उम्र कम है, इसलिए भविष्य में सम्पन्न होने वाले ओलम्पिक सहित अन्य प्रतियोगिताओं में निश्चित रूप से पदक प्राप्त कर देश का नाम रोशन करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App