ताज़ा खबर
 

बात से पलटे अखिलेश यादव बने रहेंगे सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष, पिता मुलायम को नहीं सौंपेंगे कमान

अखिलेश ने विधानसभा चुनाव से पहले कहा था कि मुलायम सिर्फ तीन महीने के लिये उन्हें पार्टी के सारे अधिकार दे दें।

समाजवजादी पार्टी के यादव परिवार में एक बार फिर विवाद की स्थिति बन रही है। एक बार फिर अखिलेश और मुलायम आमने सामने आ खड़े दिखाई दे रहे हैं।

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता राम गोविन्द चौधरी ने आज कहा कि अखिलेश यादव ही सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहेंगे। चौधरी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि विधानसभा चुनाव में सपा को बहुमत हासिल हो गया होता तो अखिलेश मुख्यमंत्री होते और पार्टी अध्यक्ष का पद सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव को सौंप देते। चुनाव में सपा की हार हुई है, ऐसे में अध्यक्ष पद मुलायम को देने का औचित्य ही नहीं है। उल्लेखनीय है कि अखिलेश ने विधानसभा चुनाव से पहले कहा था कि मुलायम सिर्फ तीन महीने के लिये उन्हें पार्टी के सारे अधिकार दे दें। उसके बाद वह सारे अधिकार लौटा देंगे। चुनाव में सपा की करारी हार के बाद ऐसे स्वर उठने लगे थे कि अखिलेश को वादे के मुताबिक पार्टी की कमान मुलायम को सौंप देनी चाहिये। यह मांग करने वालों में अखिलेश के प्रतिद्वंद्वी चाचा शिवपाल यादव तथा पार्टी के कई वरिष्ठ नेता शामिल हैं।

चौधरी ने ‘तीन तलाक’ के मसले पर भाजपा पर पलटवार करते हुए सवाल किया कि भाजपा हिन्दू महिलाओं की समस्याओं को मुद्दा क्यों नहीं बनाती। भाजपा द्वारा तीन तलाक का मुद्दा उठाये जाने को बेमतलब करार देते हुए उन्होंने मुस्लिम महिलाओं के दर्द की तुलना हिन्दू महिलाओं की मुश्किलों से की।

अखिलेश के छोटे भाई प्रतीक यादव की पत्नी और इसी साल विधानसभा चुनावों में खड़ी हुई अपर्णा ने कहा कि “अखिलेश यादव ने चुनाव से पहले जनवरी महीने में वादा किया था कि विधानसभा चुनावों के बाद वह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद नेताजी को सौंप देंगे। अखिलेश कहते हैं कि वह अपनी बातों के पक्के हैं और वादों को पूरा करते हैं। अब, मुझे लगता है कि उन्हें वादा पूरा करना चाहिए।”

जनवरी माह में समाजवादी पार्टी में तकरार के समय अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष बन गए थे और उन्होंने अपने पिता से तीन महीने का समय मांगा था। उन्होंने यह भी कहा था कि वह विधानसभा चुनावों के बाद पार्टी की कमान मुलायम सिंह को लौटा देंगे।

अखिलेश यादव ने माना- “कांग्रेस के साथ गठबंधन पारिवारिक झगड़े के कारण किया”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 यूपी: 12 PCS अधिकारियों ने योगी आदित्य नाथ को लिखी चिट्ठी, नीली बत्ती का इस्तेमाल करते रहने की मांगी परमिशन
2 VIP कल्चर पर योगी ने चलाई कैंची, डिंपल-शिवपाल-आजम की सुरक्षा घटाई, बीजेपी के फायर ब्रांड नेता को Z सिक्योरिटी
3 उत्तर प्रदेश: विवादास्पद पोस्टर के बाद कश्मीरी छात्रों का भरोसा बहाल करने में जुटी पुलिस
ये पढ़ा क्या?
X