ताज़ा खबर
 

यूपी: इटावा में दो नाबालिग बहनों की गोली मारकर हत्या, एटा में 8 साल की बच्ची का रेप करके मर्डर

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार सिंह ने बताया कि जिले के बसरेहर थाना क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की शाम को दो सगी बहनें शौच के लिए निकली थीं।

Author April 17, 2018 15:59 pm
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

कठुआ और उन्नाव में नाबागिग बच्चियों से गैंगरेप के बाद अब इंसानियत को शर्मसार कर देने वाला एक और मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश के इटावा में शौच के लिए घर से निकली दो नाबालिग बहनों के शव मंगलवार (17 अप्रैल, 2018) सुबह खेत में पाए गए। दोनों से बलात्कार के बाद हत्या की आशंका जताई जा रही है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार सिंह ने बताया कि जिले के बसरेहर थाना क्षेत्र के एक गांव में सोमवार की शाम को दो सगी बहनें शौच के लिए निकली थीं। वापस घर ना पहुंचने पर ग्रामीणों ने सोचा कि दोनों पड़ोस में लग्नोत्सव कार्यक्रम में चली गई होंगी। उन्होंने बताया कि देर रात दोनों की तलाश शुरू की गई तो गांव से कुछ दूर खेत में दोनो बहनों के शव पाए गए। उनकी गोली मारकर हत्या की गई है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजे हैं। घटनास्थल पर पुलिस को शराब की खाली बोतल और खाली कारतूस मिले हैं। आशंका जताई जा रही है कि दोनों लड़कियों की बलात्कार के बाद हत्या की गई है। मामले की जांच की जा रही है।

ऐसा ही अन्य मामला एटा के कोतवाली नगर क्षेत्र में सामने आया है। जहां विवाह समारोह में शामिल होने आई 8 साल की बच्ची की कथित तौर पर बलात्कार के बाद गला घोंटकर हत्या कर दी गई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश चैरसिया ने बताया कि शहर कोतवाली क्षेत्र में सात साल की एक बच्ची कल रात एक विवाह समारोह में आयी थी। जयमाला कार्यक्रम के दौरान जब सभी व्यस्त थे, तब लड़की अचानक गायब हो गई। परिजन ने तलाश शुरू की तो विवाह समारोह स्थल से थोड़ी दूर एक नवनिर्मित मकान में बच्ची का शव मिला। जिसके गले में रस्सी बंधी हुई थी। उन्होंने बताया कि परिजन बच्ची को जिला अस्पताल लाए जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस मामले में सोनू जाटव नामक युवक को गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि विवाह समारोह के लिए टेंट लगाने वाले जाटव ने शराब के नशे में लड़की का अपहरण किया और फिर बलात्कार करने के बाद गला दबाकर हत्या कर दी। इस मामले में आरोपी के खिलाफ बलात्कार और हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस घटना से आक्रोशित लोगों ने मृत बच्ची के शव को पुलिस से छीनकर एटा-फर्रुखाबाद मार्ग पर विकास भवन के सामने रखकर रास्ता जाम किया। जिलाधिकारी ने बताया कि पीड़ित परिवार को राज्य सरकार की ओर से महिला सम्मान कोष से 10 लाख रुपए की सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और आरोप साबित होने पर मुल्जिम के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App