ताज़ा खबर
 

‘मैनेजर गंदी तस्‍वीरें दिखाकर कई जगह छूता था’ लखनऊ के मदरसे से छुड़ाई गई छात्राओं ने सुनाई आपबीती

आरोपी के चंगुल से रिहा कराने के बाद बच्चियों को नारी बंदी निकेतन में रखा गया है जहां पर उनकी काउंसलिंग की जा रही है।

Author लखनऊ | December 30, 2017 5:28 PM
मदरसे से बाहर आती आरोपी के चंगुल से छुड़ाई गईं बच्चियां।

राजधानी लखनऊ में सआदतगंज के यासीनगंज में स्थित जामिया खदीजतुल कुबरा लिलबनात मदरसे से शुक्रवार को पुलिस द्वारा रेड कर 51 लड़कियों को रिहा करवाया गया। इस मदरसे के संचालक कारी तैयब जिया को पुलिस ने मदरसे में बच्चियों को बंधक बनाकर रखने और उनका यौन शोषण करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी के चंगुल से रिहा हुईं बच्चियां अभी भी काफी डरी और सहमी हुई हैं, जिससे पता चलता है कि आरोपी उनपर किस कदर जुल्म करता था। इस तरह शिक्षा की आड़ में मासूम बच्चियों को अपनी गंदगी का शिकार बनाना एक झकझोर कर रख देने वाली घटना है।

बच्चियों को आरोपी ने इतना प्रताड़ित किया था कि वे डर के कारण कुछ बोल भी नहीं पा रहीं। बच्चियां जब अपने ऊपर होते अत्याचार का विरोध करतीं तो उन्हें बुरी तरह पीटा जाता था। आरोपी के चंगुल से रिहा कराने के बाद बच्चियों को नारी बंदी निकेतन में रखा गया है जहां पर उनकी काउंसलिंग की जा रही है। चाइल्ड वेलफेयर कमेटी और मजिस्ट्रेट के सामने पीड़ित बच्चियों ने अपना बयान दर्ज करवाकर आपबीती सुनाई जिसे सुनकर किसी के भी रौंगटे खड़े हो सकते हैं।

एक लड़की ने आरोपी की दरिंदगी को डरे-सहमें बयां करते हुए कहा “हमारे साथ ऐसा व्यवहार किया गया है जो कि कोई किसी जानवर के साथ भी नहीं करता होगा। वह हमें अपने ऑफिस में बुलाता और कहता मेरे पैर दबाओ लेकिन जब हम ऐसा करने से इनकार करते तो वो हमें बेरहमी से पीटता। मैंने कई बार इस घटिया जगह से भागने की कोशिश की लेकिन इसके लोग हमपर नजर रखते थे।” एक बच्ची ने कहा “आरोपी के जुल्म इतने बढ़ गए थे कि मैंने फैसला किया कि मैं खुदकुशी कर लूंगी लेकिन ऐसा करने के लिए बहुत हिम्मत चाहिए होती है जो कि मेरे अंदर नहीं थी।”

एक ने कहा “हम वहां पढ़ने के लिए रहते थे लेकिन वह हमसे चाय बनवाता और अपने पैर दबवाता। मैनेजर अश्लील तस्वीरें दिखाकर गंदी बाते करता था। इसके बाद वह शरीर पर कई जगह छूता और काफी देर तक गंदी हरकतें करता।” एक 20 वर्षीय लड़की ने कहा “जब मैंने आरोपी द्वारा छोटी बच्चियों के साथ गंदी हरकतें करने का विरोध किया तो उसने मुझे एक कमरे में बंद कर दिया। एक बार की बात है उसने मुझे अर्द्धनग्न करने की भी कोशिश की जिसके बाद मैंने फैसला किया कि अब उसके जुल्म और बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। मैंने अपने साथ कुछ लड़कियों को मिलाया और आरोपी के खिलाफ लड़ने का फैसला किया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App