ताज़ा खबर
 

यूपी: धमकी देने वाले भाजपा नेताओं को सबक सिखाकर जेल भेजने वाली महिला पुलिस अधिकारी का तबादला

बुलंदशहर के बीजेपी अध्यक्ष मुकेश भारद्वाज ने कहा कि ठाकुर पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और अन्य नेताओं पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का मामला दर्ज कराया गया है।
Author बुलंदशहर | July 2, 2017 16:02 pm
वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

हाल ही में बीजेपी नेता को उसकी सही जगह दिखाने वाली महिला पुलिस अधिकारी का शनिवार को बुलंदशहर से बहराइच तबादला कर दिया गया। इस लेडी सिंघम का नाम श्रेष्ठा ठाकुर है। ठाकुर ने एक हफ्ते पहले स्थानीय बीजेपी नेता और अन्य पांच नेताओं को पुलिस कार्यवाही में दखल देने और पुलिस अधिकारी से बदतमीजी करने के आरोप में जेल भेज दिया था। हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार ठाकुर के तबादले के बाद स्थानीय नेता इसे अपना सम्मान मान रहे हैं और इसके साथ ही आला अधिकारियों से महिला अफसर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। बुलंदशहर के बीजेपी अध्यक्ष मुकेश भारद्वाज ने कहा कि ठाकुर पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और अन्य नेताओं पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का मामला दर्ज कराया गया है।

बता दें कि यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद पार्टी से जुड़े लोगों के विवादों की खबर में लगातार इजाफा हो रहा है। एक हफ्ते पहले ट्रैफिक रूल तोड़ने पर पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता का चालान काट दिया था। आरोप है कि इसके बाद अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं ने महिला CO श्रेष्ठा ठाकुर से बदसलूकी की। इतना ही नहीं, जिन कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़ा था, उन्हें भी कोर्ट परिसर से छुड़ाने की कोशिश की गई। कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिले के स्याना कस्बे में बीजेपी की जिला पंचायत सदस्य के पति प्रमोद लोधी का ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन में पुलिस ने चालान काटा था। चालान काटे जाने के बाद प्रमोद पुलिस से भिड़ गया। बात हाथापई तक पहुंच गई। जिसके बाद पुलिस ने बाइक को सीज कर प्रमोद को गिरफ्तार कर लिया।

प्रमोद को जब कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया तब बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता वहां पहुंच गए और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की गई। कार्यकर्ताओं और महिला CO के बीच भी जमकर बहस हुई। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि पुलिस बीजेपी से जुड़े ही लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है और ट्रैफिक नियमों के नाम पर घूसखोरी की जाती है। हालांकि सीओ ने इन आरोपों की सिरे से नकार दिया। महिला CO ने मीडिया को बताया, “मामला चालान का था। प्रमोद के पास पूरे दस्तावेज नहीं थे। पहले उन्होंने मेरे साथ बदतमीजी की। इसके बाद दूसरे पुलिस अधिकारियों के साथ भी बदसलूकी की गई।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Jul 2, 2017 at 3:40 pm
    भारत में इस्लाम धर्म का भविष्य अत्यंत उज्जवल दिख रहा है वहीँ हिन्दू धर्म का भविष्य अत्यंत अंधकारमय होता जा रहा है. जिस धर्म के योगी, मुनि, धर्माचार्य अपराधियों के पक्षधर बन जाएं और निर्दोष बे ारा लोगों पर अत्याचार करने लगें उस धर्म का पतन तो निश्चय ही होना है. जिस धर्म में पूरी मानवता को एक समझा जाये, किसी पर अत्याचार को घोर पाप बताया जाये. जो धर्म यह कहता हो कि सत्य बोलो, ईश्वर से डरो, सच्ची गवाही दो चाहे वह तुम्हारे माता, पिता, भाई, बहन, बेटे, बेटी, या अन्य सम्बन्धियों के खिलाफ ही क्यों न हो क्योंकि ईश्वर ज़ुल्म को पसंद नहीं करता. सभी को एक दिन अपने किये का हिसाब देना है इससे कोई भी बच नहीं सकता. जो धर्म ज़ुल्म से रोकता हो , अ ाय की मदद की शिक्षा देता हो तो ऐसे धर्म का भविष्य उज्जवल होना ही चाहिए. अगर हिन्दू धर्म वह है जो आज के कट्टरवादी हिन्दू नेता चला रहे हैं इंसान को इंसान नहीं समझ रहे हैं इंसानों का कतल कर रहे हैं तो ऐसे धर्म का नाश होना निश्चित है.
    (0)(0)
    Reply
    1. B
      bitterhoney
      Jul 2, 2017 at 1:39 pm
      आज के दिन को पुलिस को काला दिवस के रूप में मनाना चाहिए. अगर पुलिस को इस प्रकार से राजनेताओं द्वारा प्रताड़ित एवं अपमानित किया जायेगा तो पुलिस का मनोबल टूट जायेगा. अगर पुलिस का मनोबल टूट गया तो देश में गुंडों, बदमाशों, एवं बाहुबलियों का राज हो जायेगा और देश में अराजकता फैल जाएगी. योगी जी यह कदम देश के लिए घातक साबित होगा.
      (0)(0)
      Reply