ताज़ा खबर
 

वीडियो: कुशीनगर में योगी आदित्‍य नाथ के सामने नारेबाजी, सीएम ने कहा- नौटंकी बंद करो

वीडियो में सीएम हंगामा कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन वे चुप नहीं होते हैं। इस पर सीएम ने कहा, "ये एक दुखद घटना है, दुखद घटना में ये नारेबाजी बंद कर दें, अभी भी मैं बोल रहा हूं, इस बात को, नोट कर लो, नौटंकी बंद करो, ये दुखद घटना है।"

कुशीनगर में घटनास्थल पर हंगामा कर रहे लोगों को समझाते सीएम योगी आदित्य नाथ (वीडियो ग्रैब)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कुशीनगर में दुर्घटनास्थल पर गए तो थे पीड़ित परिवार के जख्मों पर मरहम लगाने। लेकिन हंगामा कर रही भीड़ के सामने योगी थोड़ा नाराज हो गये। सीएम ने हंगामा कर रहे लोगों को कहा कि नौटंकी बंद करिए। दरअसल, सीएम जब घटनास्थल पर पहुंचे तो नाराज लोगों की भीड़ ने उन्हें घेर लिया और तुरंत कार्रवाई की मांग करने लगे। वीडियो में सीएम हंगामा कर रहे लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन वे चुप नहीं होते हैं। इस पर सीएम ने कहा, “ये एक दुखद घटना है, दुखद घटना में ये नारेबाजी बंद कर दें, अभी भी मैं बोल रहा हूं इस बात को नोट कर लो, नौटंकी बंद करो, ये दुखद घटना है, और दुखद घटना के समय शोक संतप्त परिवारों के प्रति…” सीएम के इस बयान को लोग ट्विटर पर शेयर कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जिन परिवारों के चिराग बुझ गए, उन्हें इतना विरोध प्रदर्शन का अधिकार तो है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में गुरुवार (26 अप्रैल) की सुबह एक दर्दनाक घटना हुई। यहां पर मानवरहित दुदही रेलवे क्रॉसिंग को पार कर रही स्कूल बस एक ट्रेन के चपेट में आ गई। इस घटना में 13 बच्चों की मौत हो गई। जबकि 4 बच्चे घायल हो गये हैं। सीएम ने दुर्घटना स्थल पहुंचकर सारे पहलुओं की जानकारी ली और मामले में जांच की घोषणा कर दी। सीएम पडरौना के जिला अस्पताल भी पहुंचे और गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती गंभीर रूप से घायल चार बच्चों और वैन चालक से भी मिले।

ट्रेन से टकराने के बाद क्षतिग्रस्त स्कूल वैन। (फोटो-पीटीआई)

सीएम योगी आदित्य नाथ ने कहा कि गोरखपुर के कमिश्नर को घटना की जांच का निर्देश दिया गया है और उनसे शाम तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। योगी ने संवाददाताओं से कहा कि लापरवाही के लिए जो जिम्मेदार होगा, उसके खिलाफ सरकार कठोरतम कार्रवाई करेगी ।” उन्होंने कहा, ”मैं यहां परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करने आया हूं। प्रात: ही मैंने इस संबंध में रेलमंत्री से बातचीत की है। प्रथम दृष्टया इस मामले में वैन चालक की गलती सामने आ रही है। वह ईयर फोन लगाकर वैन चला रहा था। उसकी आयु को लेकर भी कुछ बातें सामने आ रही हैं।” योगी ने मृत बच्चों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है। इस सवाल पर कि बच्चे जिस स्कूल के छात्र थे, उस डिवाइन पब्लिक स्कूल को मान्यता थी या नहीं, योगी ने कहा कि सभी पहलुओं की जांच का आदेश दिया गया है। फिलहाल, एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये गये हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App