ताज़ा खबर
 

UP: मूसलाधार बारिश के कारण भर-भरा कर गिर गई तीन मंजिला इमारत, देखें वीडियो

राज्य में सोमवार सुबह साढे 11 बजे तक मृतकों की संख्या बढकर 80 और घायलों की संख्या बढ़कर 84 हो गई। सप्ताह भर में सबसे अधिक 11 मौतें सहारनपुर में हुईं हैं।

इमारत के जद में आने से बिजली के तार भी टूट गए, जिससे इलाके की बिजली प्रभावित हुई है। (फोटो सोर्स वीडियो स्क्रीन शॉट)

उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में मूसलाधार बारिश की वजह से अबतक दस से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 15 से ज्यादा लोग घायल हो गए। राजधानी लखनऊ के अलावा राज्य के बड़े शहर कानपुर में तेज बारिश हुई है। यहां बारिश के नुकसान की वजह से एक तीन मंजिला भर-भराकर गिर गई। न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक घटना में तीन लोग घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा घटना का वीडियो भी सामने आया है। इसमें एक शख्स लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने के लिए कह रहा है। 22 सेकंड के इस वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि आसपास की इमारतों को भी खासा नुकसान पहुंचा। इमारत के जद में आने से बिजली के तार भी टूट गए, जिससे इलाके की बिजली प्रभावित हुई है। राजधानी लखनऊ में भारी बारिश की वजह से जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने मंगलवार को कक्षा 12 तक के सभी स्कूल बंद करने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि बीते एक सप्ताह में बारिश से मरने वालों की संख्या 80 पार कर गई है। राहत आयुक्त संजय प्रसाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बारिश की वजह दस लोगों की मौत हो गई जबकि सात लोग घायल हो गए। उन्होंने बताया कि सोमवार सुबह साढे 11 बजे तक मृतकों की संख्या बढकर 80 और घायलों की संख्या बढ़कर 84 हो गई। सप्ताह भर में सबसे अधिक 11 मौतें सहारनपुर में हुईं।

बारिश से जुडी घटनाओं में 44 मवेशियों की मौत हो गई और 451 मकान क्षतिग्रस्त हो गए। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के आला अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे जनता को सतर्क करें और प्रभावित क्षेत्रों का व्यापक दौरा करें। साथ ही जर्जर भवनों को तत्काल खाली कराएं। योगी ने अधिकारियों को वित्तीय एवं चिकित्सीय मदद मुहैया कराने को भी कहा है। इस बीच, केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार शारदा नदी लखीमपुर के पलियाकलां में और घाघरा नदी बाराबंकी के एल्गिन ब्रिज पर और अयोध्या में खतरे के निशान से उपर बह रही है।

रिपोर्ट में कहा गया कि फतेहगढ, कन्नौज, कानपुर देहात, गढ मुक्तेश्वर, फाफामउ (इलाहाबाद), वाराणसी, गाजीपुर और बलिया में गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है। बागपत, मथुरा, आगरा, औरैया, कालपी और हमीरपुर में यमुना का जलस्तर बढ़ रहा है। गोमती नदी का जलस्तर सीतापुर के नीमसार में बढ रहा है जबकि सिद्धार्थनगर में राप्ती नदी का जलस्तर बढ रहा है। (एजेंसी इनपुट सहित)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App