ताज़ा खबर
 

सैफुल्लाह की मौत पर उलेमा काउंसिल ने उठाया सवाल, कहा- ‘इस एनकाउंटर में शामिल पुलिस वालों की वर्दी सहित खाल खिंचवा लूंगा’

सैफुल्लाह की मौत पर उसके पिता सरताज और भाई दानिश तो सवाल नहीं उठा रहे हैं, लेकिन उलेमा काउंसिल ने मुठभेड़ को फर्जी करार दिया।

Author कानपुर | Updated: March 11, 2017 12:06 AM
shaifullah, encounter, aamir rashidi madani, ulema, ulema council, police, jansatta, jansatta news, hindi news,online news

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हाल ही में संदिग्ध आतंकवादी सैफुल्लाह के एटीएस से हुई मुठभेड़ में मारे जाने पर उलेमा काउंसिल ने सवाल खड़े किए हैं। सैफुल्लाह की मौत पर उसके पिता सरताज और भाई दानिश तो सवाल नहीं उठा रहे हैं, लेकिन उलेमा काउंसिल ने मुठभेड़ को फर्जी करार दिया। उलेमा काउंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी मदनी कानपुर पहुंचे। उन्होंने कहा, “सैफुल्लाह का एनकांउटर फर्जी है। आतंकी सैफुल्लाह नहीं, आतंकी सरकार है। पुलिस वालों ने सैफुल्लाह को घर के अंदर बंधक बना रखा था।”

मौलाना मदनी शुक्रवार को सैफुल्लाह और आतिफ के घर पहुंचे और उनके परिजनों से अलग-अलग बातचीत की। वह इमरान के घर पर भी गए, लेकिन वहां ताला लगा था। इन मुलाकातों के बाद मौलाना मदनी ने मीडिया से कहा कि सैफुल्लाह को फर्जी मुठभेड़ में मारा गया है। वह आतंकी नहीं था।
उन्होंने कहा, “फर्जी एनकाउंटर का मास्टरमाइंड एडीजी हैं, जो हिंदू और मुसलमानों के बीच नफरत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। वह आरएसएस और भाजपा के लिए काम कर रहे हैं।”

मदनी ने कहा, “पूरे मामले में पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) जावीद अहमद का कोई बयान नहीं आना अपने आप में सवाल खड़ा कर रहा है।” उन्होंने मांग की कि इस मुठभेड़ की सच्चाई सामने लाने के लिए मुठभेड़ के समय मौजूद पुलिसकर्मियों और एटीएस कर्मियों का नार्को टेस्ट कराया जाए। इससे पहले, रिहाई मंच भी मुठभेड़ पर सवाल उठा चुका है। उसने इस मामले की न्यायिक जांच की मांग की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 एटीएस ने किया लखनऊ एकाउंटर के वर्कआउट का दावा, मास्‍टरमाइंड गौस मोहम्‍मद गिरफ्तार
2 वीडियो: बाइक से उतरने को किया इंकार तो मालिक समेत मोटरसाइकिल उठा ले गई ट्रैफिक पुलिस
3 कानपुर: पत्नी की हत्या कर सिपाही फरार
ये पढ़ा क्या?
X