ताज़ा खबर
 

कानपुर ट्रेन हादसा: स्टेशन मास्टर समेत चार सस्पेंड, 62 यात्री हुए थे घायल

रूरा में 28 दिसंबर 2016 को सियालदह अजमेर एक्सप्रेस 12987 ट्रेन के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए थे।

Author कानपुर | January 3, 2017 3:54 PM
Sealdah Ajmer Express derail: शयनयान श्रेणी के 13 और सामान्य श्रेणी के दो डिब्बे पटरी से उतरे थे।

रूरा में 28 दिसंबर 2016 को हुये सियालदह अजमेर एक्सप्रेस 12987 ट्रेन हादसे में प्रारंभिक जांच में दोषी पाये गये स्टेशन मास्टर समेत चार लोग सस्पेंड कर दिये गये है। एनसीआर के सीपीआरओ विजय कुमार ने एक बयान में बताया कि विभागीय जांच (डिपार्टमेंटल इन्कवॉयरी) में पहली नजर में लापरवाही बरतने वाले चार रेल कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें रूरा स्टेशन के स्टेशन इंचार्ज आन डयूटी महेश कुमार वैश्य, ट्रैफिक इंस्पेक्टर धर्म सिंह मीना, सीनियर सेक्शन इंजीनियर एस के वर्मा और आर पी सिंह शामिल है। कुमार ने बताया कि मामले की प्रारंभिक जांच के बाद एनसीआर के डीआरएम संजय कुमार के आदेश के बाद इन रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। प्रारंभिक जांच में यह अधिकारी लापरवाही के दोषी पाये गये थे।

उन्होंने बताया कि रूरा हादसे की जांच रेल संरक्षा आयुक्त (कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफटी) उत्तर परिमंडल (नॉर्दन रीजन) शैलेश कुमार पाठक कर रहे है और वह 30 और 31 दिसंबर को कानपुर और घटनास्थल आकर जांच तथा रेलवे कर्मचारियों के बयान लेकर जा चुके है । वैसे सीआरएस अभी एक बार रूरा मामले की जांच के लिये फिर कानपुर आ सकते है। सीआरएस पाठक अपनी जांच रिपोर्ट 30 दिन में नागरिक उड्डयन मंत्रालय और रेलवे मंत्रालय को सौपेंगे।

यह कार्रवाई उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के अधिकारियों द्वारा पहली नजर में लापरवाही के दोषी रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ की गयी है। वैसे इस मामले की जांच रेल संरक्षा आयुक्त (कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफटी) उत्तर परिमंडल (नॉर्दन रीजन) शैलेश कुमार पाठक कर रहे है और वह अपनी रिपोर्ट एक महीने में मंत्रालय को सौपेंगे। गौरतलब है कि 28 दिसंबर को कानपुर देहात के रूरा के पास सियालदह एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर गये थे जिसमें 62 यात्री घायल हुये थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App