india astrologers preparation for shanti yaga in agra after american astrologer prediction third world war starts from may 13- अमेरिकी ज्‍योत‍िष‍ी ने की 13 मई से तीसरे व‍िश्‍वयुद्ध की भविष्‍यवाणी, तो भारतीय ज्‍यो‍त‍िषाचार्य करने लगे शांति यज्ञ की तैयारी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अमेरिकी ज्‍योत‍िष‍ी ने की 13 मई से तीसरे व‍िश्‍वयुद्ध की भविष्‍यवाणी, तो भारतीय ज्‍यो‍त‍िषाचार्य करने लगे शांति यज्ञ की तैयारी

यह भविष्यवाणी उसी ज्योतिषी ने की है जिन्होंने अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के जीतने की भविष्यवाणी की थी।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

एक ज्योतिषी ने भविष्यवाणी की है कि बहुत ही जल्द पूरी दुनिया पर संकट आने वाला है। ऐसी भविष्यवाणी अमेरिकी ज्योतिषी ने की है। बताया जा रहा है कि 13 मई से थर्ड वर्ल्ड वॉर शुरु हो जाएगा, जिसके कारण पूरी दुनिया गहरे संकट से घिर जाएगी। इस भविष्यवाणी को गंभीरता से लेते हुए भारतीय ज्योतिषों ने शांति यज्ञ करने का निर्णय लिया है ताकि तीसरे वर्ल्ड वॉर से दुनिया को बचाया जा सके। आईएनएस से बातचीत के दौरान वैदिक सूत्रम के चेयरमैन प्रमोद गौतम ने कहा कि अमेरिकी ज्योतिषी द्वारा पूर्व से लेकर पश्चिम तक शामिल देशों के परमाणु युद्ध की जो विकट तस्वीर पेश की गई है उससे साफ पता चलता है कि 13 मई से पूरी दुनिया डर के साए में जिएगी।

प्रमोद गौतम ने कहा कि यह भविष्यवाणी उसी ज्योतिषी ने की है जिन्होंने अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के जीतने की भविष्यवाणी की थी। उनकी इस नई भविष्यवाणी को काफी समय से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर दिखाया जा रहा है। प्रमोद गौतम ने कहा कि अमेरीका के बर्थ चार्ट के ग्रह सितंबर 2017 तक बुरे स्थान पर हैं। इसका बुरा असर अमेरिका के राष्ट्रपति पर भी पड़ेगा। अगर ट्रम्प किसी पर बदले की भावना से प्रहार करते हैं तो इसका उल्टा असर अमेरिका पर पड़ेगा। अभी ग्रह शुभ नहीं हैं और दुनिया परिवर्तन की तरफ बढ़ रही है, जिसमें कि हिंसक प्रतिक्रिया का परिणाम बुरा हो सकता है।

इसके बाद गौतम ने कहा कि चूंकि भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर को लेकर तनाव बढ़ता जा रहा है। इसका परिणाम भी घातक हो सकता है, इसलिए इस आपदा से बचने के लिए आगरा में यमुना तट पर शांति यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यमुना को यमराज की बहन कहा जाता है, जो कि मृत्यु के देवता हैं। हम यमुना तट पर इस यज्ञ को करेंगे और हम लोगों से विन्नती करते हैं कि वे आगे आकर इस यज्ञ में शामिल हों, जिससे कि आने वाली आपदा को इस यज्ञ के जरिए शांत कराया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App