ताज़ा खबर
 

यूपी: पहले करवाचौथ पर पत्‍नी ने व्रत नहीं रखा, पति ने उसी के दुपट्टे से लगा ली फांसी

दीपचंद ने फांसी लगाने के लिए अपनी पत्नी के दुपट्टे का ही इस्तेमाल किया। उसकी पत्नी ने आवाज भी लगाई लेकिन वक्त रहते दरवाजा नहीं खुल सका और उसने अपने प्राण त्याग दिए।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फोटो सोर्स : Indian Express)

यूपी के मथुरा में ठीक करवाचौथ के दिन 21 साल के युवक ने फांसी के फंदे पर झूलकर अपनी जान दे दी। आत्महत्या का कारण युवक का अपनी नवविवाहिता पत्नी के साथ हुआ झगड़ा था। बताया जा रहा है कि झगड़े का कारण नवविवाहिता पत्नी का करवाचौथ का व्रत रखने से इंकार कर देना था।

वाकया शनिवार (27 अक्टूबर) का है। वृंदावन पुलिस ने मीडिया को बताया कि मृतक युवक का नाम दीपचंद था। वह जैत थानाक्षेत्र के मघेरा गांव का रहने वाला था। उसके शव को छत से लटकते हुए पाया गया था। वृंदावन पुलिस ने मीडिया को बताया कि मौके से कोई भी सुसाइड नोट बरामद ​नहीं किया गया है। युवक की शादी सिर्फ चार महीने पहले ही हुई थी। युवक और उसकी पत्नी के बीच में करवाचौथ के पर्व को लेकर झगड़ा हुआ था।

पुलिस का कहना है कि मृतक युवक दीपचंद ने अपनी पत्नी से करवाचौथ का व्रत रखने के लिए कहा था। लेकिन उसकी पत्नी से ऐसा करने से इंकार ​कर दिया। वैसे बता दें कि करवाचौथ का पर्व कई शादीशुदा महिलाओं के द्वारा पतियों की लंबी उम्र की कामना से मनाया जाता है। इस पर्व में महिलाएं सुबह से लेकर चंद्रमा का दर्शन होने तक निर्जला व्रत रखती हैं। शाम को चंद्रमा का दर्शन होने के बाद महिलाएं अपने पतियों के हाथ से जल पीकर ही व्रत तोड़ती हैं।

सूत्रों का कहना है कि महिला ने कमजोर सेहत के चलते करवाचौथ का व्रत रखने से इंकार कर दिया था। उसकी सास ने भी उसका समर्थन किया था। हालांकि दीपचंद अपने फैसले पर अडिग था और उसने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। जहां पर सुबह उसने खुद को फांसी लगा ली।

दीपचंद ने फांसी लगाने के लिए अपनी पत्नी के दुपट्टे का ही इस्तेमाल किया। उसकी पत्नी ने आवाज भी लगाई लेकिन वक्त रहते दरवाजा नहीं खुल सका और उसने अपने प्राण त्याग दिए। बाद में दरवाजे को तोड़कर जब परिजन घर के भीतर पहुंचे तो दीपचंद का शव छत से लटका हुआ था। शव देखकर परिजनों में हाहाकार मच गया। पुलिस ने दीपचंद के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App