scorecardresearch

मुरादाबाद में हिंदू युवा वाहिनी ने जबरन रुकवाई इंटर फेथ मैरिज, महिला को किडनैप करने के आरोप में दर्ज हुई FIR

हिंदू युवा वाहिनी ने मंगलवार को मुरादाबाद जिला अदालत में शादी का पंजीकरण कराने आए जोड़े की इंटर फेथ मैरिज जबरन रुकवा दी। युवा वाहिनी का कहना है कि यह लव जिहाद के अलावा और कुछ नहीं है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Hindu Yuva Vahini|Court marriage|Moradabad district court
मुरादाबाद में धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत एक शख्स के खिलाफ मामला दर्ज (Photo Credit- The Indian Express/Lalmani Verma)

मुरादाबाद में एक व्यक्ति के खिलाफ धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। शख्स पर आरोप लगाया गया कि वह लुधियाना से एक महिला को अपहरण करके लाया था, जिसका जबरन धर्म परिवर्तन कर उससे शादी करने वाला था। पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया है। इन लोगों ने मंगलवार (19 अप्रैल, 2022) को मुरादाबाद जिला अदालत में शादी का पंजीकरण कराने आए जोड़े की इंटर फेथ मैरिज जबरन रुकवा दी।

मुराबादाबाद सिविल लाइंस के डिप्टी एसपी सागर जैन ने बताया कि व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 363 (अपहरण के लिए सजा), 366 (अपहरण या महिला को उसकी शादी के लिए मजबूर करने के लिए प्रेरित करना) और यूपी के धर्मांतरण रोकथाम अधिनियम, 2021 की धारा 3-5 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने बताया कि जब तक मामले की जांच चल रही है तब तक शख्स को उसके परिवार के साथ रहने की अनुमति है। वहीं, महिला को लुधियाना में उसके परिवार को सौंप दिया गया है।

पुलिस से पूछा गया कि व्यक्ति के खिलाफ धर्मांतरण विरोधी कानून की धाराएं क्यों लगाई गईं हैं, तो एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रथम दृष्टया कानून का उल्लंघन किया गया है। हमारी जांच अभी चल रही है। सोमवार दोपहर वाहिनी के सदस्यों के एक समूह ने कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर जोड़े को घेर लिया और उस व्यक्ति पर लव जिहाद का आरोप लगाया। बाद में उन्हें मुरादाबाद पुलिस को सौंप दिया गया। इस दौरान हिंदू युवा वाहिनी के सदस्य जय श्री राम के नारे लगाते भी नजर आए।

सागर जैन ने कहा, “दोनों अदालत में अपनी शादी को पंजीकृत करवाना चाहते थे। हमें पता चला कि वे अलग-अलग धर्मों के हैं। इसके बाद महिला के माता-पिता और लुधियाना पुलिस को सूचित किया गया। लड़की के परिवार ने लुधियाना के एक पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी।”

द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए, लुधियाना मिसिंग पर्सन केस में जांच अधिकारी (आईओ) गुरुजीत सिंह ने कहा, “महिला को उसके माता-पिता को सौंप दिया गया है। शख्स के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है।”

मुरादाबाद पुलिस के मुताबिक, यह व्यक्ति शहर के कटघर के करुला इलाके का रहने वाला है और पहले लुधियाना में एक दुकान में काम करता था। इसी दुकान के पास महिला का घर था। मुरादाबाद में सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन के प्रभारी अधिकारी रवींद्र प्रताप सिंह ने कहा, “दोनों एक रिलेशनशिप में आ गए और 14 अप्रैल को दोनों मुरादाबाद के लिए रवाना हो गए। वे किसी तरह अपनी शादी को पंजीकृत कराने की कोशिश कर रहे थे, तभी हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों ने उनकी शादी रुकवा दी।”

वाहिनी की मुरादाबाद इकाई के प्रमुख अंकित शर्मा ने कहा, “हमारे सदस्यों को पता चला कि कटघर इलाके का एक निवासी सोमवार को मुरादाबाद की एक अदालत में एक हिंदू महिला के साथ अपनी शादी का पंजीकरण करान के लिए आया था। हमने इलाके की पुलिस को सूचना दी और जोड़े को कलेक्ट्रेट के बाहर रोक लिया। यह लव जिहाद के अलावा और कुछ नहीं है जिसे हिंदू युवा वाहिनी बर्दाश्त नहीं करेगी।”

पढें उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट