यूपीः हाथरस में गधे का गोबर-भूसा मिलाकर बना रहे थे नकली मसाला, पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी के नेता फैक्ट्री मालिक को किया गिरफ्तार

हाथरस में एक नकली मसाले बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। इस फैक्ट्री में गधे के गोबर, एसिड और भूसे से मसाले बनाए जाते थे। फैक्ट्री के मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

fraud, duplicate spices
नकली मसाले की फैक्ट्री का भंडाफोड़, गोबर औऱ भूसे से बनते थे मसाले।

खाने-पीने की चीजों में धांधली कर लोग बड़ा मुनाफा कमाते हैं। उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक ऐसी ही फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ है। यहां गोबर और भूसे से नकली मसाले बनाए जा रहे थे। प्रशासन ने इस फैक्ट्री को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री का मालिक हिंदू युवा वाहिनी का स्थानीय नेता है, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक यह फैक्ट्री नवीपुर इलाके में चल रही थी। फैक्ट्री के मालिक का नाम अनूप वार्ष्णेय है। बताया जा रहा है कि वह हिंदू युवा वाहिनी का मंडल सह प्रभारी है। इस फैक्ट्री से 300 किलो नकली मसाले जब्त किए गए हैं। मसाले बनाने में गधे के गोबर, एसिड और नुकसानदायक रंगों का प्रयोग होता था। यहां से कई ड्रम एसिड बरामद हुआ है।

अधिकारियों के मुताबिक मसाले के पैकेट में धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर  और हल्दी, गरम मसाला है। इसके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। फैक्ट्री मालिक के खिलाफ फूड सिक्यॉरिटी ऐंड स्टैंडर्ड ऐक्ट 2006 के तहत केस दर्ज किया गया है। अनूप को सीआरपीसी की 151 के तहत गिरफ्तारी की गई है। वह फैक्ट्री की लाइसेंस लेना चाहता था लेकिन अब तक उसे लाइसेंस नहीं  मिल पाया था। उसके पास ब्रैंड का भी कोई रजिस्ट्रेशन नहीं था। बताया जा रहा है कि अनूप कई शहरों में मसालों की सप्लाइ करता था।


जॉइंट मजिस्ट्रेट को शिकायत मिली थी कि मसाले में मिलावट होती है। इसी शिकायत पर फैक्ट्री में रेड डाली गई। यहां पहुंचने के बाद सबकी आंखें-खुली की खुली रह गईं। यहां पर कई ब्रैंड के 1000 खाली पैकेट मिले। 100 पैकेट भरे हुए भी थे। इन ब्रैंड के कागज अनूप के पास उपलब्ध नहीं थे। फैक्ट्री को तुरंत सील कर दिया गया। बता दें कि हर साल मिलावटी खाद्य पदार्थों की वजह से लाखों लोग बीमार होते हैं और गंभीर बीमारियां पैदा होती हैं। कई बार मिलावटी खाद्य पदार्थ की वजह से लोगों की जान भी चली जाती है।

पढें उत्तर प्रदेश समाचार (Uttarpradesh News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट