ताज़ा खबर
 

तीन बेटों ने ठुकरा दिया था, पुलिस ने डांटा तो रोते हुए मां बोली- कोई एक्‍शन न लो

पुलिस ने उस महिला से उसकी ​हालत जानने के बाद उसके बेटों को फटकार लगाई और उसे साथ ले जाने के लिए कहा। लेकिन जाने से पहले महिला ने कोतवाल के गले लगकर उससे विनती की कि वह उसके बेटों के ऊपर कोई कार्रवाई न करें।

हापुड़़ पुलिस के साथ जयपाली। फोटो- एएनआई

यूपी के हापुड़ में पति के दो साल पहले निधन के बाद बेसहारा हुई महिला को उसके तीन सक्षम बेटों ने घर से निकाल दिया था। महिला भटकते हुए चौराहे पर आ गई। जहां पुलिस कोतवाल की नजर पीड़ित महिला पर पड़ गई। पुलिस ने उस महिला से उसकी ​हालत जानने के बाद उसके बेटों को फटकार लगाई और उसे साथ ले जाने के लिए कहा। लेकिन जाने से पहले महिला ने कोतवाल के गले लगकर उससे विनती की कि वह उसके बेटों के ऊपर कोई कार्रवाई न करें।

मामला यूपी के हापुड़ जिले के पिलखुवा थाना क्षेत्र का है। स्थानीय अखबार करंट क्राइम में प्रकाशित खबर के मुताबिक, थाना पिलखुवा के झपट्टापुर गांव में 85 वर्षीय जयपाली के पति होशियार सिंह का दो साल पहले निधन हो गया था। निधन के बाद बेसहारा हुई जयपाली के तीन बेटे हैं। बड़ा बेटा नौकरी करता है, जबकि दो बेटों के पास अपना खुद का कारोबार है। पति के निधन के बाद बेसहारा हुई जयपाली धीरे—धीरे अपने बेटों को बोझ लगने लगी। अंत में एक ​स्थिति यह भी आ गई कि बेटों ने उसे घर से बाहर निकाल दिया।

जयपाली भटकते हुए हापुड़ नगर की तहसील चौपले पर आ गई। तहसील में कोतवाली पुलिस के कोतवाल महावीर सिंह और इंस्पेक्टर तरुणा सिंह ने उसे अकेले बैठकर रोते देखा। उन्होंने पास जाकर हाल पूछा तो जयपाली फफककर रो पड़ी। रोते हुए उन्होंने पूरी व्यथा कथा सुना दी। कोतवाल ने जयपाली को थाने में ले जाकर नाश्ता करवाया। जबकि सिपाही भेजकर तीनों बेटों को कोतवाली में बुलवा लिया।

तीनों लड़कों को कोतवाल महावीर सिंह ने बुलाकर फटकार लगाई और मां को साथ ले जाकर आदर सहित रखने के लिए कहा। थाने में तीनों लड़कों ने मां से माफी मांगी और घर में जाकर रखने के लिए तैयार हो गए। जब जयपाली थाने से चलने लगी तो उन्हें ऐसा लगा कि कहीं कोतवाल बाद में बेटों पर कोई कार्रवाई न करें। जयपाली ने कोतवाल के गले लगकर उनसे कहा कि मेरे बेटों पर अब कोई कार्रवाई न करना। हापुड़ पुलिस ने मां की ममता को बताने वाले इस वाकये को ट्विटर पर ट्वीट भी किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App