ताज़ा खबर
 

BRD अस्‍पताल का दौरा कर योगी आदित्‍यनाथ ने मीडिया को नसीहत दी, कांग्रेस पर किया पलटवार

योगी ने कहा, ''मैं आपको इस बात की सुविधा देने जा रहा हूं। प्रत्‍येक पत्रकार को कैमरा के साथ भीतर जाने की इजाजत होगी।''
योगी ने कहा कि गंगा उत्तर प्रदेश के 25 जिलों से होकर बहती है। (Source: PTI)

उत्‍तर प्रदेश के गोरखपुर में पांच दिनों के भीतर 60 से अधिक बच्‍चों की मौत के मामले में सरकार हरकत में आ गई है। रविवार (13 अगस्‍त) को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल पहुंचे। उन्‍होंने इंसेफेलाइटिस वार्ड का दौरा किया और प्रशासनिक अधिकारियों से हालात का जायजा लिया। अस्‍पताल से बाहर आने के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए योगी ने मीडिया को सही से रिपोर्टिंग करने की नसीहत दी। योगी ने पत्रकारों से कहा, ”आप सभी लोग सरकारी अस्‍पतालों में जाइए। बाहर से रिपोर्टिंग नहीं, मौके पर जाइए वार्ड में। मैं आपको इस बात की सुविधा देने जा रहा हूं। प्रत्‍येक पत्रकार को कैमरा के साथ भीतर जाने की इजाजत होगी।” उन्‍होंने कहा, ”केंद्र व राज्‍य के कई अधिकारी गोरखपुर में मौजूद हैं। प्रधानमंत्री जी ने पूरी मामले की जानकारी लेने के लिए कुछ स्‍तरीय चिकित्‍सकों की टीम यहां भेजी हैं। उन्‍होंने अपना कार्य भी प्रारम्‍भ कर दिया है। इंसेफेलाइटिस के खिलाफ शुरू से हम लोग लड़ते रहे हैं। सरकार बनने के बाद हमने जेई वैक्‍सीनेशनल ड्राइव चलाकर लाखों बच्‍चों को इंजेक्‍शन लगाए गए। सीएम बनने के बाद यह बीआरडी मेडिकल कॉलेज का मेरा चौथा विजिट है। मैं हर बार इंसेफेलाइटिस वार्ड का निरीक्षण करता हूं।”

Gorakhpur Tragedy Updates:

3.30 PM : गोरखपुर: तीन हफ्ते के बेटे को गंवाने वाले पिता ने बयां किया दर्द- छोटा सा पंप दिया था, उसे मैं साढ़े तीन घंटे तक दबाता ही रहा

3.15 PM : राज बब्‍बर ने पूछा, ”आप क्‍या जांच करेंगे? आपने (यूपी सरकार) तो पहले ही फैसला दे दिया कि ऑक्‍सीजन की कमी से मौत नहीं हुई।”

3.00 PM : कांग्रेस नेता राज बब्‍बर ने नैतिकता के आधार पर योगी आदित्‍यनाथ का इस्‍तीफा मांगा है।

2.40 PM: मीडिया में रिपोर्ट थी कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री और केंद्रीय राज्‍य मंत्री के आने से लोग संतुष्‍ट नहीं थे इसलिए मैं स्‍वयं आज यहां आया हूं। भरोसा रखिए कि कड़ी कार्रवाई होगी। : सीएम योगी आदित्‍यनाथ

2.34 PM: जब प्रिंसिपल ने कहा कि 7 तारीख को पैसा उनके अकाउंट में आ गया था तो 9 तारीख को ऑक्‍सीजन की कमी होने का क्‍या मतलब है? बीआरडी मेडिकल कॉलेज 5 करोड़ की आबादी की सेवा करता है। : सीएम

2.31 PM : पूरे मामले की जांच होगी। दोषी बख्‍शे नहीं जाएंगे। अगर आप वार्ड में नहीं जा पा रहे तो फेक रिपोर्टिंग मत करिए। : सीएम

2.29 PM: कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद जब केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री थे, तब यहां आए थे और बयान याद होगा कि उन्‍होंने कहा था कि ‘हम इसमें कुछ नहीं कर सकते क्‍योंकि ये राज्‍य का मामला है।’ तो जिनकी संवेदनाएं खत्‍म हो गईं हैं, उनसे कुछ सुनने की जरूरत नहीं हैं। : सीएम योगी

2.25 PM: पिछले संसद सत्र में हमने योगी जी को आश्‍वासन दिया था कि यहां पर हम रिसर्च सेंटर खोलेंगे और आने से पहले यहां पर 85 करोड़ रुपये की लागत से यहां पर एक सेंटर खोला जाएगा। : जेपी नड्डा

2.22 PM: प्रधानमंत्री जी इस घटना के बारे में निरंतर जानकारी ले रहे थे। भारत सरकार इस बारे में राज्‍य सरकार को पूरा सहयोग देने के लिए तैयार है। : जेपी नड्डा, केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री

2.20 PM : प्रधानमंत्री जी ने गोरखपुर को एम्‍स दिया है। लेकिन एक फुल-फ्लेज्‍ड सेंटर गोरखपुर में होना चाहिए जो यहां पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की इस बीमारी पर रिसर्च के साथ-साथ वैक्‍सीन बनाने पर ध्‍यान दे। मैंने जेपी नड्डा जी से इस बारे में चर्चा की है। वे इस बारे में बताएंगे। : सीएम

2.16 PM: लापरवाही के कारण पूरे प्रदेश में कहीं भी जनहानि होगी तो सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी। : सीएम

2.14 PM: आप सभी लोग सरकारी अस्‍पतालों में जाइए। बाहर से रिपोर्टिंग नहीं, मौके पर जाइए वार्ड में। मैं आपको इस बात की सुविधा देने जा रहा हूं। प्रत्‍येक पत्रकार को कैमरा के साथ भीतर जाने की इजाजत होगी। : सीएम

2.12 PM: घटना की जांच बेहद जरूरी है। मैंने सभी अधिकारियों से इस बात को स्‍पष्‍ट किया था कि इस बारे में लापरवाही न बरती जाए। मैंने अपनी आंखों के सामने पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के बच्‍चों को मरते देखा है। हम ऐसा नहीं होने देंगे। : सीएम

2.10 PM: इंसेफेलाइटिस के खिलाफ शुरू से हम लोग लड़ते रहे हैं। सरकार बनने के बाद हमने जेई वैक्‍सीनेशनल ड्राइव चलाकर लाखों बच्‍चों को इंजेक्‍शन लगाए गए। सीएम बनने के बाद यह बीआरडी मेडिकल कॉलेज का मेरा चौथा विजिट है। मैं हर बार इंसेफेलाइटिस वार्ड का निरीक्षण करता हूं। : सीएम

2.09 PM: केंद्र व राज्‍य के कई अधिकारी गोरखपुर में मौजूद हैं। प्रधानमंत्री जी ने पूरी मामले की जानकारी लेने के लिए कुछ स्‍तरीय चिकित्‍सकों की टीम यहां भेजी हैं। उन्‍होंने अपना कार्य भी प्रारम्‍भ कर दिया है। : सीएम योगी आदित्‍यनाथ

2.08 PM: पीएम ने मुझे आश्‍वस्‍त किया कि केंद्र से जिस तरह की मदद की जरूरत होगी, वह मिलेगी। : सीएम योगी

2.07 PM: योगी प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं।

1.50 PM: सीपीआई (एम) के सीताराम येचुरी ने गोरखपुर की घटना को ‘आपराधिक लापरवाही’ बताया है। उन्‍होंने कहा कि इसके जिम्‍मेदारों को सजा मिलनी ही चाहिए।

1.40 PM: नड्डा और योगी के साथ यूपी के शिक्षा चिकित्सा मंत्री आशुतोष टंडन और मुख्य सचिव भी मौजूद थे।

1.30 PM: चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली कंपनी का लंबित भुगतान पांच अगस्त को कर दिया गया था और मेडिकल कॉलेज को धनराशि भेज दी गई थी, लेकिन यह चौंकाने वाला है कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल राजीव मिश्रा ने 11 अगस्त तक भुगतान राशि जारी क्यों नहीं की।

1.25 PM: आदित्यनाथ ने कहा कि मामले पर मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए जा चुके हैं, जिसकी रिपोर्ट जल्द ही आ जाएगी, जबकि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित की गई जांच समिति की रिपोर्ट एक सप्ताह में आएगी।

1.20 PM: “अस्पताल में हुई हर मौत को लेकर हम संवेदनशील हैं और आप सबसे भी निवेदन है कि तथ्यों और आंकड़ों को लेकर सावधानी बरतें।” : आदित्यनाथ

1.15 PM: अखिलेश ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, “मृतकों के परिजनों को लाश देकर भगा दिया गया, यही नहीं मृतक बच्चों का पोस्टमार्टम तक नहीं हुआ है। योगी सरकार ने यह सब सच्चाई छुपाने के लिए किया है। बच्चों की मौत से मैं दुखी हूं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. K
    kjhyu
    Aug 13, 2017 at 5:15 pm
    ये जोगी का बच्चा झूठ बोलता है और मेडिया इसका चमचे बन कर गलत न्यूज़ चपटा है
    (0)(0)
    Reply