ताज़ा खबर
 

मदरसे में रेप: रवीना टंडन को मारा ताना तो मिला ऐसा जवाब कि हो गई बोलती बंद

रवीना टंडन ने एक ट्वीट कर लिखा, "धोखेबाज, कट्टरपंथी विचार वाले सभी समुदायों में पाये जाते हैं, चाहे वो हिंदू, मुस्लिम, सिख हों या फिर ईसाई। लोगों को इनकी पहचान करनी चाहिए और उन्हें समाज से बाहर करना चाहिए, इससे पहले कि वो हमारे दिमाग में पागलपन भर दें। इस बारे में जागरूकता बढ़ाइए।"

बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन। (Photo Source: Instagram)

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में एक मदरसे में एक नाबालिग लड़की के साथ रेप पर हंगामा जारी है। यहां पर 10 साल की एक लड़की से एक नाबालिग ने कथित तौर पर बलात्कार किया था। वह लड़की को पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर स्थित उसके घर से लेकर आया था। इस मसले पर सेलिब्रिटीज ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। इस मसले पर जब एक शख्स ने ट्वीट कर अभिनेत्री रवीना टंडन को ताना मारा तो रवीना ने इस शख्स को जोरदार जवाब दिया। दरअसल, रवीना टंडन ने पहले तो गाजियाबाद की घटना पर अफसोस जताया और लिखा कि अपराध के मामले में नाबालिग करार देने की उम्र सीमा कई देशों ने घटा दी है। लेकिन भारत में अब भी यह उम्र सीमा 18 साल ही है। बता दें कि गाजियाबाद में मदरसे में रेप का आरोपी भी नाबालिग है। इसके बाद रवीना टंडन ने एक ट्वीट कर लिखा, “धोखेबाज, कट्टरपंथी विचार वाले सभी समुदायों में पाए जाते हैं, चाहे वो हिंदू, मुस्लिम, सिख हों या फिर ईसाई। लोगों को इनकी पहचान करनी चाहिए और उन्हें समाज से बाहर करना चाहिए, इससे पहले कि वो हमारे दिमाग में पागलपन भर दें। इस बारे में जागरूकता बढ़ाइए।”

रवीना टंडन के इस ट्वीट पर एक शख्स ने लिखा, “आपकी बातों से सहमत हूं, लेकिन क्या आप उस लड़की के लिए खड़ी होंगी, जिसके साथ दिल्ली में मदरसे में रेप किया गया था, इस बार भगवान के लिए दाऊद भाई के परमिशन का इंतजार मत कीजिए, अपनी आवाज उठाइए।” इस शख्स के इस ट्वीट पर रवीना टंडन एकदम से भड़क गईं। रवीना ने इस शख्स को जवाब देते हुए लिखा, “भाई, तुम सोकर कब उठे? ये तुम्हारे वश की बात नहीं है, वापस जाओ और सो जाओ, नहीं तो मैं तुम्हें ब्लॉक कर दूंगी, थोड़ा होमवर्क भी कर लो, होशियारी मारने से पहले।” दरअसल, इस शख्स को नहीं पता था कि इस मुद्दे पर रवीना पहले ही अपने राय रख चुकी हैं।

बता दें कि इस मामले में गाजियाबाद में गुरुवार को भी तनाव बना हुआ है। पुलिस ने बताया कि टीम ने मदरसे का दौरा किया और इस मामले के संबंध में वहां के निवासियों एवं आने-जाने वालों से पूछताछ की। दिल्ली पुलिस की एक टीम ने लड़की को 22 अप्रैल को मदरसे से बरामद किया था। गत 21 अप्रैल को लड़की के पिता ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। इसके बाद लड़की को मदरसे से बरामद किया गया था और किशोर को पकड़ा गया गया था। 25 अप्रैल को ही इस मामले को अपराध शाखा के पास जांच के लिए स्थानांतरित किया गया था। एक अधिकारी ने बताया कि लड़की के माता-पिता का आरोप है कि मदरसा के धर्मगुरु को लड़की के बंधक बनाकर रखे जाने के बारे में पता था। वे लोग उसकी गिरफ्तारी की भी मांग कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App