ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता के यहां रेड में मिली करोड़ों की संपत्ति, दो किलो सोना और 15 लाख रुपये भी जब्त

रिपोर्ट के मुताबिक ये छापेमारी गुरुवार (28 जून) सुबह से ही चल रही थी। आयकर विभाग ने मोदीनगर इलाके में बीजेपी नेता के यहां 30 घंटे तक दस्तावेजों को खंगाला। इसके बाद इन संपत्तियों का खुलासा हुआ। बीजेपी नेता के घर छापे में पता चला है कि इस नेता की एक महिला मित्र भी है, जिसके नाम से कई फ्लैट और जमीन के प्लॉट रजिस्टर्ड हैं।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

आयकर विभाग ने बीजेपी नेता के यहां छापामार कर करोडों की संपत्ति जब्त की है। आयकर विभाग ने बीजेपी नेता के नोएडा, गाजियाबाद और मोदीनगर के ठिकानों पर मारा था। आयकर विभाग की ये छापेमारी आय से अधिक संपत्ति की खुफिया जानकारी मिलने के बाद की गई है। आयकर विभाग ने बीजेपी नेता के अलावा कई दूसरी हस्तियों के यहां भी छापेमारी की है। इनमें एक डॉक्टर कपल, एक पेट्रोल पंप मालिक भी शामिल है। आयकर विभाग के मुताबिक दो दिन की छापेमारी में कुल 50 करोड़ की संपत्ति का पता चला है। इसमें जायदाद, और ज्वैलरी भी शामिल है। आईटी विभाग ने कुल एक करोड़ की ज्वैलरी और कैश जब्त की है।

रिपोर्ट के मुताबिक ये छापेमारी गुरुवार (28 जून) सुबह से ही चल रही थी। आयकर विभाग ने मोदीनगर इलाके में बीजेपी नेता के यहां 30 घंटे तक दस्तावेजों को खंगाला। इसके बाद इन संपत्तियों का खुलासा हुआ। बीजेपी नेता के घर छापे में पता चला है कि इस नेता की एक महिला मित्र भी है, जिसके नाम से कई फ्लैट और जमीन के प्लॉट रजिस्टर्ड हैं। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी का ये नेता 2012 में विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है। छापे की कार्रवाई के दौरान इस शख्स के दो फैक्ट्रियों से भी दस्तावेज जब्त किये गये हैं। इस शख्स की नोएडा में भी फैक्ट्रियां हैं, आयकर विभाग इसकी भी जांच कर रहा है। आयकर विभाग ने हाथ में आए दस्तावेजों के आधार पर इन लोगों से कमाई का ब्यौरा मांगा है। इनकम टैक्स सूत्रों के मुताबिक यहां पर कई लोगों ने टैक्स चोरी की है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में जिस डॉक्टर का नाम आया है, उसने ओपीडी में किये गये मरीजों से हिए कमाई का ब्यौरा नहीं दिया है। इस डॉक्टर ने पिछले 10 साल से ओपीडी पेशेंट के इलाज से होने वाले कमाई का ब्यौरा नहीं दिया है। उसके अलावा अस्पताल में भी इसने कम मरीजों का इलाज दिखाया है। आयकर विभाग के अधिकारियों का आकलन कहता है कि डॉक्टर ने पिछले 10 साल में लगभग 20 करोड़ रुपये की रकम पर टैक्स नहीं दिया है। इस डॉक्टर को अब इस पूरी कमाई पर टैक्स सूद समेत देनी पड़ेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App