gaziabad news, freedom 251 news, police arrested ringing bells private limited owner mohit goyal - 251 रुपये में फ्रीडम स्मार्टफोन देने का वादा करने वाला मोहित गोयल है आठवीं फेल, धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

251 रुपये में फ्रीडम स्मार्टफोन देने का वादा करने वाला मोहित गोयल है आठवीं फेल, धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार

उसने सोचा कि जब 82 रुपए की लागत से बनने वाले अखबार को 2-3 रुपए में बेचा जा सकता है तो क्यों न इसी तरह एक स्मार्टफोन बनाकर सस्ते दामों पर बेचा जाए।

Author गाजियाबाद | February 25, 2017 12:27 PM
‘फ्रीडम251’ स्मार्टफोन देने की घोषणा करने वाली नोएडा की कंपनी रिंगिंग बेल्स के प्रबंध निदेशक मोहित गोयल को धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस ने हिरासत में लिया।

उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद पुलिस द्वारा दुनिया का सबसे सस्ता स्मार्टफोन फ्रीडम 251 बनाने वाले मोहित गोयल को गिरफ्तार किया गया है। खुद को एमबीए बताना वाला मोहित गोयल ने पुलिस को बताया कि वह सिर्फ आठवीं कक्षा तक ही पढ़ा है और अपनी अंग्रीजी बोलने की क्षमता को बढ़ाने के लिए उसने इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स किया था। गोयल को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया जब गाजियाबाद की कंपनी अयाम एंटरप्राइजेज के मालिक अक्षय मल्होत्रा ने गोयल और अन्य चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया। अक्षय ने बताया कि वह फ्रीडम 251 के डिस्ट्रीब्यूटर हैं। गोयल ने उन्हें 16 लाख रुपए का चूना लगाया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि इससे पहले भी गोयल के खिलाफ इस फोन को लेकर केस दर्ज किए जा चुके हैं।

मोहित गोयल रिंगिंग बेल्स प्राइवेट लिमिटेज के मेनेजिंग डायरेक्टर ने सोशल साइट पर सबको बता रखा था कि उसने एमिटी यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग में एमबीए किया हुआ है और वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी से बिसनेस एडमिनिस्ट्रेशन में स्नातक है। आपको बता दें कि पिछले साल रिंगिंग बेल्स नामक इस कम्पनी ने दुनिया का सबसे सस्ता फोन फ्रीडम 251 लॉन्च कर बहुत सुर्खियां बंटोरी थी। इस फोन की कीमत मात्र 251 रुपए थी। पहले तो मोहित गोयल सबको बताता रहा कि वह एमबीए है लेकिन बाद में उसने दावा किया कि वह आठवीं कक्षा तक पढ़ा था और उसमें भी वह फेल हो गया था।

मोहित गोयल उत्तर प्रदेश के शामली जिले का रहने वाला है। वह एक मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखता है। गोयल द्वारा पुलिस को द्ए गए बयान में कहा गया है कि वह किसी भी तरह जल्द से जल्द अच्छा खासा पैसा कमाना चाहता था। इसके लिए उसने स्मार्टफोन की तुलना अखबार से की। उसने सोचा कि जब 82 रुपए की लागत से बनने वाले अखबार को 2-3 रुपए में बेचा जा सकता है तो क्यों न इसी तरह एक स्मार्टफोन बनाकर सस्ते दामों पर बेचा जाए।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गोयल द्वारा किए गए दावों की जांच की जा रही है। वहीं एमिटी के प्रवक्ता ने बताया कि वह एमिटी का पूर्व छात्र है लेकिन वह यह नहीं बता पाए कि गोयल ने एमिटी से क्या कोर्स किया था। लोगों से धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार गोयल ने पुलिस को बयान दिया कि पिछले साल रिंगिंग बेल्स से उसने और उसकी बीवी धारना गर्ग ने मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ के पद से इस्तीफा दे दिया था और उसने इस कंपनी की जिम्मेदारी अपने भाई अनमोल को सौंप दी थी। गोयल ने बताया कि इसके बाद कंपनी को बंद कर दूसरी कंपनी खोल ली गई थी और रिंगिंग बेल्स के सभी ऑफिस और होर्डिंग्स को हटा लिया गया था।

देखिए वीडियो - गाज़ियाबाद की गारमेंट फैक्ट्री में 13 जिंदगियां खाक़, देखिए घटनास्थल की खौफनाक फुटेज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App