ताज़ा खबर
 

नाबालिग को बंधक बना 4 ने 10 दिनों तक किया रेप, जबरन खिलाया मांस, धर्म-परिवर्तन का बनाया दवाब

जैसे ही पीड़िता गाड़ी में बैठी आरोपियों ने उस पर बंदूक तान दी और उसकी आंखों पर एक काली पट्टी बांध दी।

Author मुजफ्फरनगर | September 19, 2017 3:55 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

देश में महिलाओं के प्रति अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर का है जहां पर एक नाबालिग को बंधक बनाकर उसका गैंगरेप किया गया और उसे जबरन मांस खाने पर मजबूर किया गया। यह मामला का भोपा थाना क्षेत्र का है। 16 वर्षीय पीड़िता ने चार लड़कों पर 10 दिनों तक बंधक बनाकर गैंगरेप करने की शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है। सर्कल ऑफिसर मोहम्मद रिज़वान द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पीड़िता ने अकरम, असलम, अय्यूब और सलीम के खिलाफ केस दर्ज कराया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़िता नई मंडी स्थित कुकरा गांव में अपने मामा घर के लिए 6 सितंबर को निकली थी।

पीड़िता के बयान के अनुसार वह बस स्टैंड पर खड़े होकर बस का इंतजार कर रही थी कि तभी वहां एक गाड़ी आकर रुकी जिसमें चार लड़के बैठे हुए थे। ये लड़के मुजफ्फरनगर की तरफ ही जा रहे थे और उन्होंने पीड़िता को लिफ्त ऑफर की। पीड़िता आरोपियों को पहले से जानती थी इसलिए उसने लिफ्ट स्वीकार कर ली। जैसे ही पीड़िता गाड़ी में बैठी आरोपियों ने उस पर बंदूक तान दी और उसकी आंखों पर एक काली पट्टी बांध दी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि आरोपी उसे अलग-अलग जगह पर ले गए जहां पर उसका रेप किया गया। पीड़िता नें बताया कि आरोपियों ने न केवल उसे मांस खिलाने की कोशिश की बल्कि उसपर धर्म-परिवर्तन करने के लिए भी दवाब डाला गया।

16 सितंबर को आरोपियों ने पीड़िता को गांव के पास बने गंगा कैनल ब्रिज के पास छोड़ दिया और धमकी दी की इस मामले की जानकारी पुलिस को न दे। घर पहुंचकर पीड़िता ने इसकी सूचना परिजनों को दी जिसके बाद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराया गया। फिलहाल आरोपी फरार है पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह दाबिश दे रही है। हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार हिंदू संगठन और स्थानीय बीजेपी नेता पीड़िता के गांव पहुंचे और उन्होंने जल्द से जल्द आरोपियों को पकड़ने की पुलिस से मांग की।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App