Former CM of Uttar Pradesh Akhilesh Yadav responds to bungalow loot charge- प्रेस कॉन्फ्रेंस में टोटी लेकर पहुंचे अखिलेश यादव, बोले- अब सरकार लौटाए मेरा मंदिर - Jansatta
ताज़ा खबर
 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में टोटी लेकर पहुंचे अखिलेश यादव, बोले- अब सरकार लौटाए मेरा मंदिर

सरकारी बंगले में तोड़फोड़ को लेकर उठते सवालों से परेशान होकर अखिलेश यादव बुधवार को मीडिया के सामने आए और सफाई दी।उन्होंने कहा कि जो टोटी गायब मिली है, वही लौटाने आए हैं।

Author नई दिल्ली | June 13, 2018 5:35 PM
प्रेस कांफ्रेंस में टोटी के साथ पहुंचे अखिलेश यादव।

सरकारी बंगले में तोड़फोड़ को लेकर उठते सवालों से परेशान होकर अखिलेश यादव बुधवार को मीडिया के सामने आए और सफाई दी।उन्होंने कहा कि जो टोटी गायब मिली है, वही लौटाने आए हैं। प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश ययादव टोटी लेकर पहुंचे थे, यह देखकर पत्रकार हैरान रहे। अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि वह टोटी लौटाने को तैयार है मगर सरकार उनका मंदिर लौटाए, जो आवास में छूट गया है। प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि मीडिया को बंगला दिखाने से पहले वहां ओएसडी अभिषेक और आईएएस मृत्युंजय नारायण पहुंचे थे।फिर आरएसए और पीडब्ल्यूडी की टीम भी गई थी।

फिर आरएसए और पीडब्ल्यूडी की टीम भी बंगले में घुसी थी।उन्होंने सरकार पर तोड़फोड़ कराने का आरोप लगाया। कहा कि कल हमारी सरकार बनी तो हो सकता है कि यही अफसर दिखा दें कि बंगले में चिलम मिला है।उन्होंने कहा कि स्टेडियम मेरा था, स्टील स्ट्रक्चर से इसलिए बनाया था, ताकि बंगला छोड़ते समय उसे हटाया जा सके। अखिलेश यादव ने कहा कि जो मेरा सामान था, वही लेकर गया।जैसा सरकार ने बंगला दिया था, वैसा ही छोड़ा।उन्होंने कहा कि बंगले में स्वीमिंग पुल था ही नहीं मगर खबर बना दी गई।

बंगले के मामले में राज्यपाल के पत्र लिखने पर अखिलेश यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि वह अच्छे आदमी हैं, उन्हें संविधान के हिसाब से बोलना चाहिए, लेकिन कभी-कभी आरएसएस की आत्मा जाग जाती है।अखिलेश यादव ने मौज लेते हुए कहा कि अब जो भी मुख्यमंत्री बनेगा वह सबसे पहले लखनऊ में बड़ा प्लॉट ढूंढेगा। वो तो गनीमत थी कि मैने पहले ही प्लॉट ले रखा था, अब शानदार घर बनवाऊंगा।अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे सरकार की रिपोर्ट का इंतजार है, जिससे पता चले कि मैने सरकारी संपत्ति को कितना नुकसान पहुंचाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App