ताज़ा खबर
 

यूपी: शराब के लिए नहीं थे पैसे तो नाबालिग बेटी का ही कर दिया सौदा

पुलिस ने गुरुवार को इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि पीड़िता का पिता मौके से भागने में कामयाब हो गया।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एक बहुत ही शर्मनाक वाकया देखने को मिला। एक पिता पर आरोप लगा है कि उसने शराब के लिए अपनी नाबालिग बेटी को बेचने की कोशिश की। यह मामला रथ इलाके का है। इस मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज करा दी गई है। 15 वर्षीय पीड़िता द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार उसके पिता ने पवई इलाके में रहने वाले एक व्यक्ति के साथ उसे बेचना का सौदा किया। पीड़िता ने पुलिस से कहा कि उसके पिता कहीं एक जगह टिककर काम नहीं करते हैं जिसकी वजह से घर में पैसों की कमी रहती है। उसने कहा कि अगर मेरे पिता को एक दिन भी शराब पीने के लिए पैसा न मिले तो वह तड़प उठते हैं। इसी कारण उन्होंने अपनी शराब के लिए पैसों का बंदोबस्त करने के लिए मेरा सौदा किया।

पीड़िता ने पुलिस से यह भी कहा कि पिछले कुछ दिनों से कई लोग जबरदस्ती घर में घुस आते और उसके साथ बदसलूकी करते थे। पुलिस ने गुरुवार को इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि पीड़िता का पिता मौके से भागने में कामयाब हो गया। इस मामले पर बातचीत करते हुए रथ कोतवाली के एसएचओ ने कहा कि इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। इसके साथ ही पीड़िता के आरोपी पिता को ढूंढने के लिए एक पुलिस टीम को तैनात कर दिया गया है।

इस प्रकार का एक मामला 18 मई को उत्तराखंड के उधमनगर जिले के किच्छा इलाके में देखने को मिला था। यहां पर एक मां ने महज 50 हजार रुपए के लिए बरेली के एक व्यवसायी को अपनी नाबालिग बेटी बेच दी थी। व्यवसायी की पत्नी बच्ची से घर का सारा काम कराती थी और कभी उससे कोई गलती हो जाती तो बच्ची को बुरी तरह से पीटा जाता था। एक दिन बच्ची किसी तरह वहां से भागने में कामयाब हुई और उसने शिकायत बरेली शहर के जीआरपी थाने में कराई। इसके बाद पुलिस ने पीड़िता की मां समेत सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं पीड़िता को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया, जहां पर उसकी काउंसलिंग की गई।

देखिए वीडियो - शमशान में 4 वर्षीय बच्ची पर की तांत्रिक क्रिया; पुलिस ने नहीं लिया कोई एक्शन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App