ताज़ा खबर
 

नहीं रहे बेगम के लिए “छोटा ताजमहल” बनवाने वाले फैज़ुल हसन, बीवी के पास ही दफनाए गए

कादरी के पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि वह गुरुवार के दिन सड़क हादसे में बुरी तरह घायल हो गए थे, जिसके बाद अलीगढ़ के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।

faizul hasan qadriकादरी ताजमहल जैसा एक किला बनवाने के बाद खासे मशहूर हुए थे। इसके अलावा लड़कियों के लिए बनने वाले स्कूल को जमीन दान देकर भी वह खासे चर्चा में आए थे। twitter.com/Babynasuja

पत्नी की याद में मुगल बादशाह शाहजहां द्वारा आगरा में बनाए गए ताजमहल जैसा ही छोटा ‘ताजमहल’ बनवाने वाले रिटायर्ड पोस्टमास्टर फैजुल हसन कादरी की सड़क हादसे में देर रात मौत हो गई। कादरी के पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि वह गुरुवार के दिन सड़क हादसे में बुरी तरह घायल हो गए थे, जिसके बाद अलीगढ़ के निजी हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती कराया गया था। सूत्रों के मुताबिक अज्ञात वाहन ने कादरी के घर के बाहर उन्हें टक्कर मार दी थी। वह गुरुवार करीब साढ़े दस बजे रात में घर के बाहर टहलने के लिए निकले थे। कादरी के भतीजे मोहम्मद असलम कादरी ने बताया कि वह चोट से कराहते हुए जमीन पर पड़े थे। रात करीब एक बजे उन्हें इसकी जानकारी मिली। तब तुरंत स्थानीय हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। अच्छे उपचार के लिए अलीगढ़ के निजी हॉस्पिटल भी ले जाया गया मगर शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया। असलम बताते हैं कि दो साल पहले भी साइकिल से उनका एक्सीडेंट हुआ था। इसके बाद से वह ज्यादातर पैदल ही चला करते थे।

बता दें कि कादरी छोटा ताजमहल बनवाने के बाद खासे मशहूर हुए थे। इसके अलावा लड़कियों के लिए बनने वाले स्कूल को जमीन दान देकर भी वह खासे चर्चा में आए थे। उनकी पत्नी ताजामौली बेगम की गले का कैंसर होने के चलते साल 2011 में मौत हो गई थी। दोनों की शादी 1953 में हुई थी, मगर इस दंपत्ति की कोई संतान नहीं थी। पत्नी की मौत के बाद कादरी ने उनकी याद में ताजमहल बनवाने का निर्णय लिया था। रिटायर होने के बाद रिटायरमेंट के पैसे से उन्होंने अपनी बेगम की याद में छोटा ताजमहल बनवाया था।

खास बात यह है कि पत्नी को उसी इमारत के अंदर ही दफनाया गया। कब्र के बराबर में खाली जगह कादरी के लिए छोड़ी गई थी। उनकी इच्छा थी कि मौत के बाद उन्हें भी पत्नी के बगल में दफनाया जाए। वहीं डिबाई पुलिस स्टेशन (बुलंदशहर) के एसएचओ योगेंद्र सिंह ने बताया कि फैजुल कादरी के परिवार ने पोस्टमार्टम कराने से इनकार कर दिया था। परिवार नहीं चाहता था कि पोस्टमार्टम किया जाए। पूरे रस्मो रिवाज के साथ अब कादरी को भी उनकी पत्नी के बगल में उसी ताजमहल के अंदर दफना दिया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीजेपी MLA बोले- बहुत से शहरों का बदलना है नाम, मुगलों ने संस्‍कृति मिटाने का किया काम
2 वाराणसीः मोदी के दौरे से पहले आज जायजा लेंगे योगी, काशी कॉरिडोर पर भी करेंगे बात
3 लखनऊ पहले भी कर चुका है इंटरनेशनल क्रिकेट मैच की मेजबानी, जानिए क्या थे परिणाम
यह पढ़ा क्या?
X