ताज़ा खबर
 

नोएडा में प्रधानमंत्री को झेलना पड़ा लोगों का विरोध, घर दिलाने को लेकर हुई नारेबाजी

प्रदर्शनकारियों को पुलिस दल ने रास्ते में ही रोक दिया था, जिसके बाद वह शांतिपूर्ण तरीके से वापस चले गए।

Author नोएडा | December 25, 2017 16:46 pm
मेट्रो में सफर करते पीएम नरेंद्र मोदी, यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ और राज्यपाल राम नाइक।

दिल्ली मेट्रो की मैजेंटा लाइन का आज यानि सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन किया गया। मेट्रो का उद्घाटन करने नोएडा पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी की जनसभा के विरोध में नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट आॅनर्स वेलफेयर एसोसिएशन (नेफोमा) के बैनर तले आज सुबह फ्लैट खरीददारों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। सैकड़ों की संख्या में फ्लैट खरीददारों ने ‘‘प्रधानमंत्री जी घर दिलाओ’’ और ‘‘बिल्डरों की मदद बंद करो’’ के नारे लगाते हुए पीएम की जनसभा की ओर कूच किया। हालांकि पुलिस ने उन्हें सेक्टर-18 मेट्रो स्टेशन पर ही रोक लिया था।

इस दौरान फ्लैट खरीददारों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। सहायक पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को संबोधित करता हुआ एक ज्ञापन सौंपा है, जिसे हमने उनसे ले लिया है। प्रदर्शनकारियों को पुलिस दल ने रास्ते में ही रोक दिया था, जिसके बाद वह शांतिपूर्ण तरीके से वापस चले गए। नेफोमा की महासचिव श्वेता भारती ने कहा कि उन्होंने वर्ष 2010 में फ्लैट बुक कराया था। बिल्डर ने तीन साल में फ्लैट बनाकर देने का वादा किया था। सात-आठ साल गुजरने के बाद भी ना घर मिला और ना ही मिलता हुआ दिख रहा है।

भारती ने आरोप लगाया कि कुछ बिल्डर भाग गये हैं और जो बचे हुए हैं वे पैसों की कमी का हवाला देकर उन्हें घर बनाकर नहीं दे रहे। भारती ने कहा कि उन्हें योगी सरकार से बहुत उम्मीद थी, लेकिन यह सरकार भी पुरानी सरकारों की तरह बिल्डरों की मदद कर रही है। योगी सरकार के पास कोई ठोस नीति नहीं है, जिससे यह भरोसा जगे कि हमें हमारा घर मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि जीवनभर की कमाई जिस घर के लिए हमने लगाई है उस घर के लिए हम लोग सड़क पर धक्के खा रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से मांग की है कि उनकी सरकार बिल्डरों के खिलाफ एक ठोस नीति बनाकर उन्हें मकान दिलवाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App